आढ़ती अपनी हड़ताल वापस लें, उचित मांगों पर होगा विचार : जयप्रकाश दलाल

-किसानों की फसल खरीदने के बाबत वैकल्पिक व्यवस्था कर रही हरियाणा सरकार : कृषि मंत्री

नई दिल्ली। हरियाणा में किसानों की फसल की खरीददारी की वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है। बेमौसम बारिश के दृष्टिगत किसानों के समक्ष विकट परिस्थितियां खड़ी हो रही हैं। लिहाजा, आढतियों से पुनः अपील है कि वह अपनी हडताल को समाप्त करें। उनकी तर्कसंगत मांगों पर सरकार विचार करेगी। यह बातें कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जयप्रकाश दलाल ने आढतियों से बातचीत के उपरांत नई दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में मीडिया से बातचीत करते हुए कहीं।

इस दौरान जयप्रकाश दलाल ने बताया कि आढतियों के साथ संपन्न बैठक में उनकी मांगो पर विस्तारपूर्वक और बिन्दुवार चर्चा की गई। राज्य सरकार आढतियों की समस्याओं के समाधान और सभी उचित मांगों को पूर्ण करने के प्रति सदैव तत्पर है। उन्होंने ये भी बताया कि ई-नेम से संदर्भित समस्या के हल के अतिरिक्त निजी खरीददारों द्वारा की जाने वाली खरीददारी के भुगतान के संदर्भ में आढ़तियों की आशंकाओं का निवारण किया गया है।

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने कहा कि लगातार हो रही बेमौसमी बारिश के परिणामस्वरूप किसान वर्ग को विकट परिस्थितियों का सामना करना पड रहा है। किसान वर्ग की इन विकट परिस्थितियों के दृष्टिगत आढतियों की हड़ताल पूर्णतया औचित्यहीन है। मीडिया के एक सवाल के जवाब में कृषि मंत्री ने कहा कि आढतियों द्वारा की जा रही हड़ताल का औचित्य इसी बात से साबित हो जाता है कि सरकार के प्रत्येक कार्य का विरोध करने वाले विपक्षी राजनीतिक दलों तक से आढ़तियों को कोई समर्थन नहीं मिल पा रहा है।

अनाज मंडी के संबंध में की जाने वाली वैकल्पिक व्यवस्था के संदर्भ में मीडिया की ओर से पूछे गए एक अन्य सवाल के जवाब में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने स्पष्ट किया कि कोरोना के समय में भी सफल रूप से अनाज मंडियां संचालित की गई थी और अब भी मंडियों का सफल रूप से संचालन किया जाएगा ताकि किसानों को परेशानी न हो।

Comments are closed.