आगरा के हॉस्पिटल में महिला ने दिया एक साथ चार बच्चों को जन्म

चारो बच्चे स्वस्थ परिवार में छाईं खुशियां

राजेश तौमर

आगरा: आगरा के एक हॉस्पिटल में एक महिला ने प्रसव के दौरान एक साथ चार बच्चों को जन्म दिया। डाक्टर को अल्ट्रासाउंड के दौरान दो जुड़वा बच्चे होने की जानकारी पर डिलिवरी के लिए हॉस्पिटल में खास इंतजाम किए थे। लेकिन इसे कुदरत का ही करिश्मा कहेंगे कि महिला ने एक साथ तीन लड़की और एक लड़के को जन्म दिया बच्चों के जन्म से परिवार में खुशियों का माहौल है। वही चारो ओर चर्चा का विषय बन गया है। कुदरत का ऐसा तोहफा पाकर परिवार प्रसन्न है तो चिकित्सक भी बच्चों की सेहत को लेकर लगातार उनका ख्याल रख रहे हैं।
बता दे कि आगरा के थाना एत्माद्दौला क्षेत्र के प्रकाश नगर की रहने वाली खुशबू पत्नी मनोज गर्भवती थी। प्रसव पीड़ा होने पर उसे ट्रांस यमुना कॉलोनी स्थित अंबे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। डाक्टर ने भर्ती होने के बाद जब खुशबू का अल्ट्रासाउंड किया गया तो उन्हें दो जुड़वा बच्चों की जानकारी हुई।

आपरेशन के लिए डॉक्टरों का पैनल

अापरेशन के लिए डॉक्टर ने एक पैनल बनाया, जिसमे डॉक्टर प्रियंका सिंह, डॉक्टर नीलम यादव, डॉक्टर सूर्यदेव यादव शामिल थे। सभी ने मिलकर खुशबू का आपरेशन शुरू किया। ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर का पैनल उस समय काफी कमश्मश में था, जब उन्होंने एक साथ चार बच्चों को देखा। तो सभी हैरान हो गए। खुशबू ने ऑपरेशन के दौरान चार बच्चों को जन्म दिया। हालांकि चिकित्सक हैरान इसलिए भी थे क्योंकि अल्ट्रासाउंड के समय उन्हें कुछ और ही नजर आ रहा था। जुड़वा बच्चे ही दिखाई दिए थे। लेकिन डिलिवरी के दौरान चार बच्चों ने जन्म लिया। इन चार बच्चों में से तीन लड़की और एक लड़का है।

चारो पूर्ण रूप से स्वस्थ्य

चिकित्सकों का कहना है कि सभी बच्चे पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं। चारों बच्चों को एतिहात के लिए ट्रांसयमुना के पालना नर्सिंग होम में भर्ती करवाया गया है। हॉस्पिटल के संचालक महेश चौधरी ने बताया कि उन्हें हॉस्पिटल का संचालन करते साल सालों हो गए लेकिन ऐसा चमत्कार कभी नहीं देखा। डॉक्टर महेश चौधरी ने कहा कि वह इन बच्चों की देखवाल खुद करेंगे। अगर परिवार को कैसी भी आर्थिक सहायता चाहिए होगी तो वह पूरी मदद भी करेंगे साथ ही बच्चों की शिक्षा की भी व्यवस्था करेंगे।
बच्चों के पिता मनोज का कहना है कि वह ऑटो चलाते है उसके पहले से तीन लड़कियां है अब कुल 7 बच्चों के लालन पालन को लेकर चिंतित है।

Comments are closed.