आगरा के युवाओं को भड़काने वाले सेना के जवान को आगरा पुलिस ने पंजाब से किया गिरफ्तार

आगरा के युवाओं को भड़काने वाले सेना के जवान को आगरा पुलिस ने पंजाब से किया गिरफ्तार

रिपोर्ट: आकाश जैन

आगरा आगरा के थाना मलपुरा के अन्तर्गत ग्वालियर हाईवे पर बीते 17 जून को युवाओं ने अग्नीपथ योजना को लेकर एक प्रदर्शन किया था। जिसमें थाना मलपुरा एसओ की गाड़ी पर पत्थर फेंक गाड़ी को क्षतिग्रस्त कर दिया था।युवाओं ने हाइवे जाम करने की भी कोशिश की थी इसमें युवाओं को भड़काने के पीछे का मास्टरमाइंड सेना के एक जवान का हाथ था यह सेना का जवान पंजाब में कार्यरत है सेना का जवान वर्तमान में पंजाब में सेना में नौकरी कर रहा है।

वह मूल रूप से राजस्थान के जिला करौली के मांडई गांव का रहने वाला है। आगरा पुलिस ने गैर जमानती वारंट पर पंजाब से गिरफ्तार करके आगरा ले आई
17 जून को ग्वालियर हाईवे पर हुए उपद्रव में आगरा पुलिस ने 13 नामजद और 35 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया था जिसमें पुलिस ने सादाबाद निवासी अभिषेक को गिरफ्तार किया मोबाइल चेकिंग के दौरान पुलिस को अभिषेक के मोबाइल में इंकलाब जिंदाबाद के ग्रुप मिला जिसमें 300 से अधिक लोग शामिल थे और 20 से 25 ग्रुप एडमिन थे ।

बारीकी से पूछताछ में पुलिस को जानकारी प्राप्त हुई के मुख्य एडमिन राजस्थान के जिला करौली गांव मंडई निवासी गुमान सिंह है जो इस समय पंजाब में सेना में अपनी सेवा दे रहा है ।

बीते मंगलवार को आगरा पुलिस ने गुमान सिंह को पंजाब से गिरफ्तार कर लिया। एसपी बेस्ट सत्यजीत गुप्ता ने बताया है गुमान का भाई सेना में अपनी परीक्षा दे चुका था भाई का सिलेक्शन सेना में ना होने की वजह से गुमान सिंह आहत हो गया था और वह युवाओं को भड़काने का कार्य कर रहा था । गुमान सिंह ने इंकलाब जिंदाबाद से ग्रुप बनाया और उसमें युवाओं को लगातार अग्नीपथ योजना के बारे में उकसा रहा था उसके उकसावे में आकर युवाओं ने ग्वालियर हाईवे पर तोड़फोड़ की आगरा पुलिस के द्वारा उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

Comments are closed.