एएचटीयू टीम ने नाबालिग बच्ची को पिता से मिलवाया

मां के सही व्यवहार ना करने पर पुलिस ने बच्ची को भेजा था शेल्टर होम

नोएडा: मां के सही बर्ताव न करने पर पुलिस द्वारा शेल्टर होम में छोड़ी गई 9 वर्षीय बच्ची ने एएचटीयू टीम के सामने काउंसलिंग के दौरान अपने पिता के पास जाने की इच्छा जाहिर की थी। जिसके बाद एएचटीयू टीम ने बच्ची के पिता को कानपुर में तलाश कर बच्ची को उनके सुपुर्द किया।
थाना एएचटीयू टीम ने सोमवार को साई कृपा शैल्टर होम बालिका में जाकर बच्चों की काउंसलिंग की। काउंसलिंग के दौरान एक 9 वर्षीय बच्ची से बातचीत की गई तो बच्ची ने बताया की वह हरसिंह देव का पुरवा, ताना सचैंड़ा, कानपुर की रहने वाली है। बच्ची ने बताया कि कुछ समय पहले उसके पिता के साथ काम करने वाले एक व्यक्ति बलवन्त के साथ उसकी मम्मी नोएडा आ गई थी, जो उसे भी अपने साथ ले आई थी। उसकी मम्मी चाय की दुकान पर नौकरी करती थी और उनके जाने के बाद बलवन्त बच्ची के साथ मारपीट करता था। एक दिन बच्ची की मम्मी के काम पर जाने के बाद बलवन्त ने बच्ची को पीटा, तो उनके मकान मालिक ने पुलिस को सूचना दे दी। जिस पर पुलिस तुरन्त मौके पर पहुंची गई मगर बलवन्त घर से भाग गया। रात के समय बच्ची की मां ने बच्ची के साथ सही व्यवहार नहीं किया तो पुलिस ने बच्ची को शैल्टर होम भिजवा दिया था। काउंसलिंग के दौरान बच्ची ने अपने पिता के पास जाने की इच्छा जताई थी। जिसपर एएचटीयू प्रभारी ने अपनी टीम के साथ मिलकर बच्ची के पिता के बारे में पता लगाया और उनसे संपर्क किया गया। संपर्क होने के बाद टीम ने बच्ची को सीडब्लूसी के आदेशानुसार उसके पिता के सुपुर्द कर दिया।

Comments are closed.