एलिवेटड योजना बनी व्यापारियों के लिए आफत,प्रदर्शन कर जताया विरोध

एलिवेटड निर्माण ने दुकानों पर काम करने वाले हजारों लोगों के रोजगार पर भी संकट खड़ा कर दिया है।

अभिषेक ब्याहुत 

नोएडा: प्राधिकरण की भंगेल एलिवेटड योजना व्यापारियों के लिए नुकसान का सौदा साबित हो रही है। शनिवार को व्यापारियों ने सडक़ पर आकर इसका विरोध किया और आधे घंटे के लिए दुकानों का शटर गिरा दिया। व्यापरियों ने कहा कि निर्माण कार्य ने दुकानदारी चौपट कर दी है। किराया और घर चलाना तक मुश्किल हो चुका है। एलिवेटड निर्माण ने दुकानों पर काम करने वाले हजारों लोगों के रोजगार पर भी संकट खड़ा कर दिया है।
भंगेल एलिवेटड बरौला से सेक्टर-110 तक बनाई जा रही है। उत्तर प्रदेश युवा व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष विकास जैन ने बताया कि इस रोड पर करीब 350 से ज्यादा दुकानें दोनों तरफ है। कंस्ट्रक्शन के चलते दोनों ओर की सडक़ की चौड़ाई समाप्त हो चुकी है। वाहन निकल नहीं सकते है। ऐसे में ग्राहक नहीं है। आलम ये है कि प्रतिदिन व्यापारियों को 40 से 50 लाख का नुकसान हो रहा है। आमदनी जीरों हो चुकी है। बरौला एसोसिएशन के अध्यक्ष योगेश गुप्ता ने बताया कि कंस्ट्रक्शन के दौरान नियमों को ताक पर रखा गया है। धूल को रोकने के लिए पानी का छिडक़ाव तक नहीं किया जा रहा। निर्माण सामग्री को ढका नहीं गया है। गर्मी हवा और ट्रकों की आवाजाही से यहां धूल के गुबार ही उड़ते है। इसलिए आज दुकानों को बंद कर विरोध दर्ज कराया गया। प्रदर्शन के दौरान सेतु निर्माण विभाग के अधिकारी वेद प्रकाश ने कहा कि दो दिनों में सभी अव्यवस्थाओं को दूर किया जाएगा।

Comments are closed.