अरशद वारसी : काम के लिए भटकते रहे 3 साल फिर ‘सर्किट’ ने मचाया ‘धमाल’

-पहली फिल्म तेरे मेरे सपने फ्लॉप होने के बाद अरशद ने पत्नी की सैलरी से चलाया घर

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेता अरशद वारसी जो ‘सर्किट’ के नाम से भी जाने जाते हैं। आज (19 अप्रैल को) उनका जन्मदिन है। साल 1968 में मुंबई में जन्में अरशद वारसी की आर्थिक स्थिति फिल्मों में आने से पहले ठीक नहीं थी, जिस वजह से उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ा। मगर, आज वो बॉलीवुड में एक मुकाम बना चुके हैं।

अरशद ने साल 1996 में फिल्म तेरे मेरे सपने से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। अरशद अपने करियर को लेकर कई खुलासे कर चुके हैं। उन्होंने अपने उस दर्द को भी बयां किया जब उन्हें काम के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ी थीं।

एक बार उन्होंने एक इंटरव्यू में खुलासा किया था कि अपनी पहली फिल्म के बाद उन्हें कितनी मुश्किलों से गुजरना पड़ा था। अरशद वारसी की पहली फिल्मे ‘तेरे मेरे सपने’ को अभिनेता अमिताभ बच्चन के प्रोडक्शन हाउस एबीसीएल के बैनर तले प्रोड्यूस किया गया, लेकिन ये फिल्म फ्लॉप हो गई थी। इसके बाद अरशद तीन साल बेरोजगार रहे थे।

फिल्म तेरे मेरे सपने के फ्लॉप होने के बाद अरशद वारसी को लंबे समय तक कोई काम नहीं मिला। वह करीब तीन साल तक काम की तलाश में भटकते रहे। इस मुश्किल घड़ी में अरशद वारसी का साथ उनकी पत्नी मारिया गोरेटी ने दिया। इस बात का खुलासा खुद अरशद वारसी ने अपनी फिल्म इरादा के प्रमोशन के दौरान किया था।

अरशद वारसी ने बताया कि उनके संघर्ष के दिनों में पत्नी मारिया नौकरी किया करती थीं। इस दौरान उनका घर पत्नी की सैलरी से चल जाता था। इसके लिए वह हमेशा अपनी पत्नी की शुक्रिया अदा करते रहते हैं। अरशद वारसी ने अपने करियर में ढेर सारी फिल्में कीं, लेकिन उन्हें असली सफलता साल 2003 में फिल्म मुन्ना भाई एमबीबीएस से मिली। इस फिल्म में उनका सर्किट का किरदार आज भी दर्शकों की पहली पसंद है।

राजकुमार हिरानी द्वारा निर्देशित मुन्नाभाई एमबीबीएस में संजय दत्त के अलावा अरशद वारसी के अभिनय ने भी काफी सुर्खियों बटोरीं थीं। इसके बाद अरशद वारसी ने एक से बढ़कर एक फिल्में दीं। उनकी शानदार फिल्मों में मुन्नाभाई एमबीबीएस के अलावा गोलमाल सीरीज, धमाल, जॉली एलएलबी, इश्किया और डेढ़ इश्किया शामिल हैं।

Leave A Reply