अस्थायी स्टूडियो में सो रहे सोशल मीडिया कलाकार और बुजुर्ग की फावड़े से काट कर हत्या

अभिषेक ब्याहुत

नोएडा। थाना दनकौर क्षेत्र के यमुना प्राधिकरण क्षेत्र के सेक्टर-22डी से सटे बल्लू खेड़ा गांव में हमलावरों ने बुधवार रात अस्थायी स्टूडियो में सो रहे सोशल मीडिया कलाकार और बुजुर्ग की फावड़े से काट कर हत्या कर दी। दोनों चाचा-भतीजे थे। पुलिस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस की एक टीम गठित कर दी गई है। पति-पत्नी के संबंध खराब होने और संपत्ति विवाद में वारदात होने की आशंका जताई जा रही है।
बल्लू खेड़ा गांव निवासी 62 वर्षीय रामकुमार और 40 वर्षीय विक्रमाजीत रिश्तेदारी में चाचा-भतीजे थे। रामकुमार एक महीने पहले ही रोडवेज में चालक के पद से रिटायर हुए थे। वह रात को विक्रमाजीत के गांव से बाहर बने घेर में सोते थे। रामकुमार और विक्रमाजीत बुधवार रात घेर में सोए थे। आधी रात में कुछ हमलावर आए और फावड़े-बसूली से दोनों के सिर में कई वार कर दिए। हमलावर दोनों को मरणासन्न अवस्था में छोडक़र फरार हो गए। सुबह जब दोनों नहीं जगे तो पड़ोसी ने जाकर दरवाजा खटखटाया। अंदर से आवाज नहीं आने पर दीवार कूदकर गांव वाले घेर में गए तो घटना की जानकारी हुई। मौके पर तत्काल पुलिस पहुंच गई। घटनास्थल पर रामकुमार मृत अवस्था में थे। वहीं, विक्रमाजीत की सांसें चल रही थीं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। उपचार के दौरान दोपहर को उन्होंने भी दम तोड़ दिया। रामकुमार के पुत्र शीशपाल ने दनकौर कोतवाली में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया है। एफआईआर में पति-पत्नी के संबंध खराब होने और संपत्ति के विवाद का जिक्र किया गया है। घटनास्थल पर बैरिकेडिंग करके फॉरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड टीम ने घटना के संबंध में साक्ष्य जुटाकर नमूने लिए हैं। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त धारदार वस्तुएं बरामद की है। घटनास्थल पर कई थानों की पुलिस तैनात रही। गांव में शांति बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

घेर में शूटिंग का सेट तैयार करवा रहा था विक्रमाजीत सिंह
विक्रमाजीत सिंह सोशल मीडिया का कलाकार था। ग्रेटर नोएडा में एक साथी डायरेक्टर के साथ मिलकर वह अपने घेर में शूटिंग का सेट तैयार करवा रहा था। इसके लिए वहां कैमरे आदि की व्यवस्था भी की जा रही थी। शूटिंग के लिए महंगे कैमरे भी खरीदे गए थे। अस्थायी स्टूडियो में दोहरा हत्याकांड होने से विक्रमाजीत के साथी डायरेक्टर काफी सदमे में है। वह सेट की व्यवस्था और कैमरे आदि पर काफी रुपये खर्च कर चुके हैं। घटनास्थल पर पहुंचकर वह बेहोश हो गए। हालांकि, बाद में पुलिस अधिकारियों को उन्होंने अहम जानकारी मुहैया कराई है।

वर्जन
घटना के संबंध में अहम सुराग मिले हैं। कई कोण से मामले की जांच की जा रही है। जल्दी ही मामले का पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

-अशोक कुमार, एडीसीपी ग्रेटर नोएडा

Comments are closed.