भारत-चीन वार्ता: लद्दाख पर 13वीं सैन्य वार्ता रही बेनतीजा,8 घंटे चली बैठक

चीन ने इस दौरान न तो भारतीय प्रतिनिमंडल की सुनी और ना ही खुद कोई रास्ता बताया

बीते साल मई से भारत और चीन (India-China Ladakh Dispute) के बीच जारी सीमा विवाद का अब तक कोई स्पष्ट हल नहीं निकल पाया है. दोनों देशों के बीच रविवार को सैन्य वार्ता भी हुई, लेकिन चीन ने इस दौरान न तो भारतीय प्रतिनिमंडल की सुनी और ना ही खुद कोई रास्ता बताया. भारतीय सेना ने इस बाबत एक बयान में 13वीं सैन्य वार्ता पर अहम जानकारी दी. सेना ने कहा कि दोनों देश बैठक में बाकी मुद्दों के समाधान पर किसी नतीजे पर नहीं पहुंचे. हालांकि सेना ने यह आशा जताई है कि
मुद्दों के समाधान पर चीन आगे बढ़ेगा.

भारतीय सेना (Indian Army) ने वार्ता के 13वें दौर पर कहा कि चीन के साथ सैन्य वार्ता में कोई समाधान नहीं निकला.  एक बयान में सेना ने कहा, ‘ दोनों पक्षों के बीच बैठक के दौरान चर्चा पूर्वी लद्दाख में एलएसी से जुड़े बाकी मुद्दों के समाधान पर केंद्रित रही. भारतीय पक्ष ने बताया कि चीनी पक्ष द्वारा एलएसी पर मौजूदा स्थिति यथास्थिति को बदलने और द्विपक्षीय समझौतों के उल्लंघन के एकतरफा प्रयासों के कारण बदली. इसलिए यह जरूरी है कि चीनी पक्ष बाकी क्षेत्रों में उचित कदम उठाए ताकि पश्चिमी क्षेत्र में एलएसी पर शांति बहाल हो सके.’

सेना ने कहा  ‘ दो विदेश मंत्रियों द्वारा दुशांबे में अपनी हालिया बैठक में सुझाए गए रास्ते पर दोनों देशों के बीच समझौता होगा. दोनों विदेश मंत्री इस बात पर सहमत हुए थे कि दोनों पक्षों को बाकी मुद्दों को जल्द से जल्द हल करना चाहिए.

Comments are closed.