भाजपाई पर ऊंगली उठाने वालो की ऊंगली तोड़ी जाएगी : डा. रामशंकर कठेरिया

भाजपा नेता के बयान पर सपा कांग्रेस ने जताया विरोध 

दिनेश शाक्य 

इटावा। एससी एसटी आयोग के अध्यक्ष और इटावा संसदीय सीट से भाजपा उम्मीदवार डा. रामशंकर कठेरिया ने सत्ता की हनक दिखाते हुए कहा कि आज उत्तर प्रदेश और केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। भाजपा के समर्पित विचारों के कार्यकर्त्ता पर कोई भी ऊंगली उठायेगा तो ऊंगली तोड़ी जायेगी। अगर कोई आंख दिखायेगा तो आंख का सामना भी आंख से किया जायेगा। डा. कठेरिया शुक्रवार को इटावा में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्त्ताओं को संबोधित करते हुए यह बयान दिया। उनके बयान पर सपा और कांग्रेस ने कड़ा एतराज जताया है।

इटावा सीट से प्रत्याशी बनाए जाने के बाद पहली बार शहर में पहुंचे डा. कठेरिया ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि इटावा में उनका मुकाबला किसी से नहीं है। इटावा उनकी जन्मभूमि है। अब पार्टी ने उन्हें इटावा की सेवा करने का अवसर दिया है तो जन्मभूमि के कर्ज को प्राण प्रण से चुकाएंगे। आगरा भले ही कर्मस्थली रही हो, लेकिन जन्मस्थली इटावा है और इटावा के विकास में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि सपा और बसपा के बीच यूपी में चुनाव को लेकर जो गठबंधन हुआ है वह स्वार्थबंधन है। वह ज्यादा दिन चलने वाला नहीं है। चुनाव बाद यह गठबंधन टूट जाएगा। चुनाव के बीच में भी टूट सकता है। 

डा. कठेरिया ने कहा कि चुनाव में राष्ट्रवाद, विकासवाद व सुशासन मुख्य मुद्दा होगा। वे इटावा में आरएसएस के प्रचारक रहे हैं। उनकी पढ़ाई भी यहीं हुई है और अब जब उन्हें सेवा का अवसर मिला है तो कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि यदि कुछ लोग नाराज हैं तो उन्हें मनाएंगे और सभी मिलकर पार्टी के लिए काम करेंगे। यूपी में 70 से अधिक सीटें जीती जाएंगी। 

डा. कठेरिया के बयान पर कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष उदयभान सिंह यादव का कहना है कि डा. कठेरिया का यह बयान सीधे तौर पर आचार संहिता उल्लंघन के दायरे में है। भाजपा उम्मीदवार जिस ढंग से बयान दे रहे हैं, उससे साफ है कि वो लोगों को डरा रहे हैं। ताकि भाजपा के पक्ष में मतदान करने के लिए लोग विवश हों।

समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष गोपाल यादव का कहना है कि कठेरिया का बयान कोई महत्व इसलिए नहीं रखता है। जब मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री हर किसी को ठोकने और डराने जैसे बयान देते हैं तो जाहिर है कि उनकी पार्टी के नेता भी उनकी ही भाषा बोलेंगे। उन्होंने कहा कि इटावा के लोग इस तरह के बयान से डरने वाले नहीं हैं क्योंकि नेता जी के सामने चंबल के खूंखार डाकू को भी यही भाजपा चुनाव मैदान में उतार चुकी है, जिसको बुरी तरह से हराकर चित्त कर दिया गया था।

Leave A Reply