शाहगंज डिपो में बसों का संचालन ठप,एआरएम के रवैया से भड़के रोडवेज के ड्राइवर, कंडक्टर

शाहगंज डिपो में बसों का संचालन ठप,एआरएम के रवैया से भड़के रोडवेज के ड्राइवर, कंडक्टर

सुबह से नहीं निकली रोडवेज की 20 बसें, लाखों का नुकसान यात्री हुए हलकान

एआरएम के रवैया से भड़के रोडवेज के ड्राइवर, कंडक्टर

शाहगंज। प्रणय तिवारी

शाहगंज डिपो के एआरएम के रवैया से आक्रोशित रोडवेज के दर्जनों चालकों, परिचालकों ने शनिवार को 20 बसों का संचालन ठप कर दिया। इससे दिल्ली, लखनऊ, कानपुर व आजमगढ़ के लिए बसें नहीं निकली।चिलचिलाती धूप में साधन के लिए हज़ारों यात्री परेशान हो गए। इससे परिवहन निगम को लाखों रुपये का नुकसान उठाना पड़ा।

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम आजमगढ़ परिक्षेत्र के शाहगंज डिपो में प्रभारी एआरएम के लाल के सख्त रवैय्ये से यहां के ड्राइवरों और कंडक्टरों में खासा हड़कम्प मचा है । उत्तर प्रदेश रोडवेज इंप्लाइज एसोसिएशन के वरिष्ठ नेता व परिचालक प्रेम शंकर सिंह, संगठन के उपाध्यक्ष राकेश यादव, पूर्व अध्यक्ष अशोक सिंह रवींद्र सिंह, जयशंकर मौर्य ने बताया कि 4 दिन की ड्यूटी में 165 किलोमीटर का सिडियूल है, और कर्मचारियों को डबल ड्यूटी करने पर ओवरटाइम और सहूलियत दी जाती है लेकिन डिपो के वरिष्ठ अधिकारी जबरिया 420 किलोमीटर ड्यूटी करवा रहे हैं। 70 से 80 फीसदी इनकम बढ़ाने के लिए ड्राइवरों, कंडक्टरों के ऊपर अनावश्यक का दबाव बनाया जा रहा है।

ओवरटाइम करने पर और कोई छुट्टी भी नहीं दी जा रही है। आरोप लगाया कि हम लोगों से जबरिया 1680 किलोमीटर ड्यूटी करवाया जा रहा है। रास्ते में गाड़ियां जब ब्रेकडाउन हो जाती हैं तो उनकी मरम्मत के नाम पर भी ड्राइवर कंडक्टर खुद के जेब से पैसे खर्च करके गाड़ियां बनवाते हैं । इसमें भी डिपो स्तर से कोई मदद नहीं की जा रही है। पिछले 1 सप्ताह से चल रहे इस विवाद को लेकर शनिवार को सुबह कर्मचारियों ने खासा बखेड़ा खड़ा कर दिया।
शाहगंज रोडवेज डिपो में 31 बसों का संचालन होता है, जिसमें 6 गाड़ियां पूरी तरह से खड़ी रहती है ।

शनिवार की सुबह 5 गाड़ियां लांग रूट के निकली, उसके बाद बाकी अन्य गाड़ियों के चालकों परिचालकों ने प्रभारी सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक के लाल के खिलाफ नारेबाजी करते हुए हंगामा खड़ा कर दिया, और दिल्ली, लखनऊ, कानपुर, आजमगढ़ व अन्य सभी रूटों पर चलने वाली बसों को निकालने से साफ मना कर दिया। चिलचिलाती धूप और गर्मी के बीच वैवाहिक कार्यक्रमों के इस दौर में सैकड़ों यात्री साधन के अभाव में डिपो परिसर में घंटों हलकान रहे।
इससे अकेले सिर्फ एक दिन में दो लाख रुपये से अधिक का नुकसान रोडवेज प्रशासन को उठाना पड़ा।

दोषी कर्मियों के खिलाफ होगी कार्रवाई, ए आर ए एम

जौनपुर। शाहगंज डिपो के प्रभारी ए आर एम के लाल ने इस प्रतिनिधि से बातचीत में बताया कि व्यवस्था को सही किया जा रहा है तो कुछ लोग इस तरह का अड़ंगा डाल रहे हैं। रोडवेज की आय बढ़ाने और यात्रियों को बेहतर सुविधा देना हमारी जिम्मेदारी है। इसे सख्ती से लागू किया जा रहा है तो कुछ लोग लापरवाही कर रहे हैं। ऐसे लोगों को चिन्हित करके उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

Comments are closed.