चंबल नदी के घाट पर नहाने गई किशोरी पर मगरमच्छ ने किया हमला

-किशोरी गंभीर रूप से घायल, प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से मिली छुट्टी

आगरा/ पिनाहट। जनपद के थाना मंनसुखपुरा क्षेत्र के अंतर्गत गांव बरेंडा के चंबल नदी घाट पर परिजनों के साथ गंगा दशहरा नहाने गई किशोरी पर मगरमच्छ ने हमला बोल दिया जिससे वह गंभीर रुप से घायल हो गई। वहीं, घायल किशोरी को प्राथमिक चिकित्सा के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

जानकारी के अनुसार निधि पुत्री गीताराम उम्र करीब 13 वर्ष निवासी वरेंडा थाना मनसुखपुरा रविवार को सुबह परिजनों के साथ गंगा दशहरा के अवसर पर चंबल नदी घाट पर नहाने गई थी। परिजनों के अनुसार तभी चंबल नदी किनारे पानी में नहाते समय अचानक एक मगरमच्छ ने किशोरी पर हमला बोल दिया और अपना शिकार बनाने के लिए खींचने का प्रयास किया।

किशोरी की चीख-पुकार सुनकर परिजन और ग्रामीण एकत्रित हो गए शोर मचाने पर मगरमच्छ ने किशोरी की पीठ पर कटीली दार पूछ मार दी और पानी में भाग गया। जिससे किशोरी गंभीर रूप से घायल हो गई। जलीय जीव मगरमच्छ के हमले से किशोरी भयभीत हो गई परिजनों ने तत्काल गंभीर घायल किशोरी को सीएचसी केंद्र पिनाहट लेकर पहुंचे जहां चिकित्सकों द्वारा घायल किशोरी का इलाज किया गया। इलाज के बाद परिजन किशोरी को घर ले गए। ग्रामीणों का कहना था अगर मौजूद लोगों द्वारा शोर शराबा नहीं किया जाता तो किशोरी की जान को खतरा हो सकता था।

वन विभाग के अलर्ट करने के बावजूद भी ग्रामीण बरत रहे लापरवाही

चंबल नदी वरेंडा घाट पर एक 13 वर्षीय किशोरी पर मगरमच्छ ने हमला बोल दिया जिससे वह गंभीर घायल हो गई परिजनों द्वारा किशोरी का इलाज कराया गया है। चंबल नदी में घड़ियाल और मगरमच्छ का संरक्षण वन विभाग द्वारा किया जा रहा है जहां लगातार नदी में इनका कुनबा दिनों दिन बढ़ता जा रहा है।

वहीं, वन विभाग द्वारा चंबल नदी किनारे बसे गांव के ग्रामीणों को कई बार अलर्ट किया गया है की चंबल नदी किनारे ना जाएं उग्र मगरमच्छ और घड़ियाल अंडों को लेकर कभी कबार हमला कर देते हैं जिससे उनकी जान को खतरा भी हो सकता है। मगर वन विभाग की गाइडलाइन और अलर्ट पर ग्रामीण ध्यान नहीं देते हुए चंबल नदी में स्नान करने जाते हैं जिससे उनकी जान को खतरा बन जाता है।

Leave A Reply