CM धामी ने हरक सिंह रावत को उत्तराखंड कैबिनेट और पार्टी से निकालने की वजह बताई

पार्टी पर रावत उनके परिवार के सदस्यों को टिकट देने का दबाव बना रहे थे.

बीजेपी ने उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री डॉ हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) को पार्टी से छह साल के लिए निकाल दिया है. बीजेपी ने हरक सिंह रावत के कांग्रेस में शामिल होने की खबरों के बीच उनके खिलाफ कड़ा कदम उठाते हुए सरकार और  बीजेपी दोनों से ही उन्हें बाहर कर दिया है. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) का इस पर कहना है कि पार्टी पर रावत उनके परिवार के सदस्यों को टिकट देने का दबाव बना रहे थे.

CM धामी ने इस पर कहा, ‘हमारी पार्टी में वो आए विकास के मामले में उन्होंने जो कहा हमने वो किया लेकिन हमारी पार्टी वंशवाद से दूर और हमारी पार्टी विकास के साथ चलने वाली पार्टी है. उनकी कुछ बातों से हम कई बार असहज हुए. स्थितियां ऐसी हुई कि पार्टी पर वो दबाव बना रहे थे, जिसके बाद पार्टी ने ये निर्णय लिया. साथ ही एक परिवार से अब एक ही व्यक्ति को टिकट दिया जाएगा.’

आरोप है कि हरक सिंह रावत तीन टिकट देने का दबाव पार्टी पर बना रहे थे. खुद के अतिरिक्त वो अपनी पुत्रवधू और अपनी एक समर्थक को टिकट देने की पार्टी से मांग कर रहे थे, लेकिन हरक सिंह रावत के आगे पार्टी नहीं झुकी और उलटा मंत्रिमंडल से उन्हें बर्खास्त कर पार्टी से भी छह साल के लिए निलंबित कर दिया है. जिसके बाद माना जा रहा है कि हरक सिंह रावत अब दिल्ली में कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं.

Comments are closed.