राजधानी दिल्ली में सुबह से ही कांग्रेसी नेताओं का केंद्र सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन जारी

राजधानी दिल्ली में सुबह से ही कांग्रेसी नेताओं का केंद्र सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन जारी

रिपोर्ट: रवि डालमिया

कांग्रेस ने महंगाई जीएसटी और केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ शुक्रवार को सुबह से ही संसद से सड़क तक प्रदर्शन किया। इस बार कांग्रेस की अलग ही स्ट्रैटेजी दिखी. सबसे पहले सोनिया ने कांग्रेसी सांसदों के साथ संसद में काले कपड़े पहनकर जमकर नारेबाजी की. उसके बाद, राहुल संसद से राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकालने के लिए निकले, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया और हिरासत में ले लिया.

इसके बाद पार्टी मुख्यालय में मौजूद प्रियंका गांधी ने मोर्चा संभाला और अपने सांसदों के साथ पीएम आवास घेरने के लिए निकलीं लेकिन यहां भी पुलिस ने उन्हें आगे नहीं बढ़ने दिया। जिसके बाद प्रियंका गांधी सड़क पर ही घरने पर बैठ गईं. पुलिस ने उन्हें भी हिरासत में ले लिया.

इस बीच अजय माकन, सचिन पायलट, हरीश रावत, अभिनाश पांडे, इमारत प्रताप गढ़ी सहित कांग्रेस के सभी बड़े नेताओं को हिरासत में लिया गया। इससे पहले राजधानी दिल्ली में आज सुबह करीब 10 बजे कांग्रेस के इस विरोध प्रदर्शन की शुरुआत राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस से हुई। राहुल गांधी ने कहा आज देश में लोकतंत्र नहीं है सिर्फ तानाशाही है हम महंगाई का मुद्दा उठाते हैं हमें संसद में बोलने नहीं दिया जाता बाहर प्रदर्शन करने पर गिरफ्तार कर लिया जाता है

इस दौरान राहुल गांधी ने कहा 70 साल में देश बना लेकिन बीजेपी ने 8 साल में इसे खत्म कर दिया चाहें बेरोजगारी, हिंसा और महंगाई का मुद्दा हो सरकार का सिर्फ यही एजेंडा है कि इन मुद्दों का न उठाया जाए। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान राहुल गांधी अपने हाथ पर काली पट्टी बांधे हुए थे

Comments are closed.