दिल्ली : मानवता हुई शर्मसार जिस मालिक की तन मन से सेवा मरने के बाद उसी मालिक ने लाश को पटरी पर फेंका

 

रिपोर्ट : रवि डालमिया

दिल्ली में फिर इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। दरअसल नेपाल मूल के एक शख्स की यूपी में मौत के बाद उसकी लाश को दिल्ली के शमशान घाट के बाहर फेंक दिया गया रात भर कुत्ते लाश सूंघते रहे, गनीमत रही कि जानवरों ने लाश को नोचा या खाया नहीं शाहदरा के सीमापुरी स्थित शमशान घाट के बाहर की यह पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है।

दस्तावेज पूरे ना होने पर शमशान घाट ने दाह संस्कार से किया मना

रात के समय एंबुलेंस से शव शमशान घाट पर लाया गया, मगर दस्तावेज पूरे ना होने पर शमशान घाट ने दाह संस्कार से मना कर दिया। अगली सुबह वही लाश लावारिस पड़ी मिली, जिसकी सूचना सीमापुरी पुलिस को दी गई। सीसीटीवी फुटेज की मदद से एंबुलेंस चलाने वाली संस्था की पहचान की गई, जिसके बाद यूपी में मौत होने की जानकारी सामने आई। पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम तो कराया, मगर उसे फेंकने पर कोई एक्शन नहीं लिया। जांच अधिकारी पर मिलीभगत कर मसले को निपटाने के आरोप हैं। शमशान घाट पर कार्यरत शहीद भगत सिंह सेवा दल मैनेजर हरजीत सिंह ने पुलिस को लिखित शिकायत दी। उसमें बताया गया 13 जून की रात एक एंबुलेंस से 3-4 लोग शव लेकर आए। कोई दस्तावेज ना होने पर शमशान घाट के कर्मचारी ने बॉडी लेने से मना किया।

यमुनापार की एक संस्था की एंबुलेंस

इसके बाद 14 जून की सुबह कर्मचारियों को शव गेट के बाहर लावारिस पड़ी मिली सीसीटीवी फुटेज चेक करने पर पता चला शव वही लोग फेंक गए हैं, जो रात में उसे लाए थे। फिर पुलिस कॉल कर एंबुलेंस नंबर पता लगाया गया कि वह यमुनापार की एक संस्था की एंबुलेंस है। वहां जाकर पता चला शख्स की मौत यूपी के एक गोदाम में हुई थी वहां के कुछ कर्मचारी मालिक शह पर चोरी-छिपे शव लेकर दिल्ली आए और फेंककर चले गए। मरने वाले मगहर नेपाल निवासी थे। पोस्टमार्टम के बाद शव परिवार की जगह मालिक को देने की बात भी सामने आई है। एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि मामले में कोई एक्शन नहीं बनता है पोस्टमार्टम कराया गया है। अगर उसमें कुछ निकलकर आएगा, तो एक्शन लिया जाएगा। जब इस मामले पर चादर डीसीपी से बात करनी चाहिए तो उन्होंने बात को टालमटोल कर दिया अब देखना यह होगा कि आखिर जिन लोगों ने मानवता को शर्मसार किया है क्या पुलिस अब उन लोगों पर कोई एक्शन ले पाएगी।

Comments are closed.