दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी को लेकर बैठक, उपमुख्यमंत्री व पीडब्ल्यूडी मंत्री ने की डिज़ाइन की समीक्षा

-दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी को नवीनतम टेक्नोलॉजी से किया जाएगा लैस ताकि हमारे खिलाड़ियों को मिले वर्ल्ड-क्लास सुविधाएं : मनीष सिसोदिया

नई दिल्ली। राजधानी में दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के निर्माण को लेकर गुरुवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया व पीडब्ल्यूडी मंत्री सत्येंद्र जैन ने एक महत्वपूर्ण बैठक की अध्यक्षता की। ये बैठक दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के डिजाइन लेआउट की समीक्षा के लिए बुलाई गई थी। बैठक में पीडब्ल्यूडी, उच्च शिक्षा निदेशालय व दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के अधिकारियों ने भाग लिया।

बैठक में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया व पीडब्ल्यूडी मंत्री सत्येंद्र जैन ने यूनिवर्सिटी के डिज़ाइन की समीक्षा की व डिज़ाइन में सुधार को लेकर अधिकारियों को निर्देश दिए| उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “यूनिवर्सिटी का निर्माण खिलाडियों की जरूरतों को ध्यान में रख कर किया जाएगा| इसलिए ये सुनिश्चित किया जाए की यूनिवर्सिटी में खिलाडियों के प्रदर्शन को बेहतर करने के साथ-साथ उनके स्वस्थ जीवनशैली के लिए आवश्यक सभी सुविधाएं मौजूद होनी चाहिए”। ताकि हमारे खिलाडियों को वर्ल्ड-क्लास सुविधाएँ मिले और वो देश के लिए मेडल्स जीत सके।

सत्येंद्र जैन ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि , “दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी में विश्व स्तरीय स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के समान सुविधाएं होनी चाहिए। उन्होंने कहां कि “यूनिवर्सिटी को स्पोर्ट्स के नवीनतम तकनीक और उपकरणों से लैस किया जाएगा ताकि खिलाडियों के प्रदर्शन को बेहतर किया जा सके और साथ ही उनका ओवरआल वेल- बीइंग सुनिश्चित किया जा सके”।

दिल्ली सरकार, भारत के लिए पदक जीतने वाली खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा देने और प्रोत्साहित करने के लिए दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की स्थापना की दिशा में काम कर रही है। दिल्ली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी दिल्ली सरकार की एक अनूठी परियोजना है जिसका निर्माण लगभग 80 एकड़ भूमि में किया जाएगा। यूनिवर्सिटी में वेटलिफ्टिंग , मुक्केबाजी, कुश्ती, बैडमिंटन, हॉकी, एथलेटिक्स सहित लगभग सभी प्रमुख खेलों में खिलाडियों को ट्रेनिंग दी जाएगी और विभिन्न खेलों से संबंधित सुविधाओं को अंतर्राष्ट्रीय खेल संघों के मानकों को ध्यान में रखते हुए बनाया जाएगा।

Comments are closed.