पूर्वी दिल्ली : नगर निगम मलबे का निस्तारण के लिए कितना गंभीर, आधा किलोमीटर की सड़क पर मलबे का ढेर

 

रिपोर्ट : रवि डालमिया

पूर्वी दिल्ली नगर निगम मलबे का निस्तारण के लिए कितना गंभीर है इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि शाहदरा साउथ जोन के एक सड़क पर मनवा घर में तब्दील हो गया है और नगर निगम के अधिकारी आंख मूंदे बैठे हैं गाजियाबाद को दिल्ली नोएडा रोड लिंक रोड से जोड़ने वाली यह हिडन कैनल सड़क गाजीपुर डंपिंग याद के पास मलवा याद के तब्दील हो गया है हालत यह है कि तकरीबन आधा किलोमीटर की सड़क पर मलबे का ढेर लग गया है क्षेत्र के निर्माण कार्य से निकलने वाला मलवा जहां पर डंप किया जाता है।

पूरी सड़क पर मलबे का ढेर

गाजीपुर डंपिंग यार्ड की वजह से पहले से परेशान आसपास के लोगों के लिए मलबे का ढेर उनकी मुसीबतों को और बढ़ा है, लेकिन नगर निगम के अधिकारी बेपरवाह है। मलवा घर में तब्दील यह सड़क दिल्ली नगर निगम के प्रदूषण को नियंत्रण करने का दावा भी पोल खोल रहा है। गाजीपुर के राजगढ़ कॉलोनी रहने वाले लोगों ने बताया कि गाजीपुर डंपिंग यार्ड में जमा कूड़े का पहाड़ गिरने से कुछ साल पहले मौत हो गई थी पूरा कैनल तक पहुंच गया था तब से गाजीपुर डंपिंग यार्ड के समांतर गुजरने वाली हिडन कैनल रोड के कुछ हिस्से को बंद कर दिया गया इसके बाद से ही इस सड़क क्षेत्र के लोग मलवा फेंकने लगे और पूरी सड़क पर मलबे का ढेर लगा गया। दिल्ली नगर निगम और पुलिस से बेपरवाह ट्रक और ट्रैक्टर माफिया इस सड़क पर मलबा फेंक रहे हैं जिसकी वजह से उनका क्षेत्र और भी प्रदूषण हो रहा है वह लोग पहले से ही गाजीपुर डंपिंग यार्ड के जमा कूड़े के पहाड़ से परेशान थे अब मलवा का से उड़ने वाले धूल उन्हें परेशान कर रहे हैं।

Comments are closed.