सरकार वरिष्ठ नागरिकों के लिए खोलने जा रही है रोजगार एक्सचेंज ( Employment Exchange )

वरिष्ठ नागरिकों को सरकार का तौहफा

क्या होगा फायदा

देश के सभी सीनियर सिटीजन के लिए है यह कमाल की खबर है। भारत सरकार सीनियर सिटीजंस के लिए एंप्लॉयमेंट एक्सचेंज खोलने जा रही है जिसके तहत सीनियर सिटीजन का पूरा बायोडाटा वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा इसके बाद जिस भी कंपनी को किसी रिक्त स्थान के लिए सीनियर सिटीजन की आवश्यकता होगी वे वेबसाइट से काबिलियत अनुसार एंप्लॉयमेंट प्रदान कर सकते हैं।

यह एक्सचेंज 1 अक्टूबर यानी शुक्रवार से ही शुरू होगा. इसके अलावा सरकार ने सीनियर सिटीजन के लिए एक हेल्पलाइन की शुरुआत भी की है.

इस एक्सचेंज में सीनियर सिटीजन अपना रजिस्ट्रेशन कराकर अपने लिए रोजगार की तलाश कर सकेंगे. इस तरह का एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज देश में पहली बार खोला जा रहा है. इसके लिए एक पोर्टल शुरू हो रहा है.

 

कैसे करें आवेदन 

60 साल से ऊपर के जो लोग नौकरी करना चाहते हैं, वे 1 तारीख से सामाजिक न्याय एवं अध‍िकारिता मंत्रालय (MoSJ&E) की अगुवाई में खुल रहे सीनियर एबल सिटीजन्स फॉर री-एम्प्लॉयमेंट इन डिगनिटी (Sacred) पोर्टल पर जाकर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं.

 

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक यह portal एक इंटरएक्टिव प्लेटफार्म प्रदान करेगा जिसकी मदद से स्टेकहोल्डर्स  एक दूसरे से एंप्लॉयमेंट पर चर्चा कर सकेंगे और एंप्लॉयमेंट के अवसर प्रदान कर सकेंगे मंत्रालय ने CII, Ficci और Assocham जैसे इंडस्ट्री चैंबर को भी लेटर लिखकर यह कहा है कि वरिष्ठ नागरिकों को रोजगार हासिल करने में मदद करें.

 

क्या कहा मंत्रालय ने

रिपोर्ट के मुताबिक इस पोर्टल पर सीनियर सिटीजन को अपनी क्वालिफिकेशन, अनुभव, स्कील, इंटरेस्ट आदि अपलोड करनी होंगी जिसके बाद कम्पनिया उन्हें अवसर प्रदान कर सकेंगी। इसके अलावा सरकार का यह भी कहना है कि वह इस पोर्टल के जरिए नौकरी की गारंटी नहीं देते हैं क्योंकि  यह कंपनियों और नियोक्ताओं की मर्जी होगी कि वे किसी सीनियर की योग्यता, अपनी जरूरत को देखते हुए उसे अपने यहां नौकरी पर रखें.

 

गौरतलब है कि औसत जीवन प्रत्याशा यानी जीने की उम्र में बढ़ोतरी होने की वजह से देश में वरिष्ठ नागरिकों की संख्या काफी बढ़ रही है, ऐसे में इस तरह के एंप्लॉयमेंट एक्सचेंज काफी कारगर साबित हो सकते है. एक अनुमान के अनुसार साल 2001 के 7.6 करोड़ के मुकाबले साल 2011 में सीनियर सिटीजन की संख्या बढ़कर 10.4 करोड़ हो गई है. साल 2050 तक देश में वरिष्ठ नागरिकों का जनसंख्या में अनुपात बढ़कर 20 फीसदी तक हो जाने का अनुमान है।

 

सीनियर सिटीजन के लिए हेल्पलाइन

गौरतलब है सरकार ने सीनियर सिटीजन के लिए एक देशव्यापी टोल फ्री हेल्पलाइन 14567 की शुरुआत की है जिसे ‘एल्डर लाइन’ कहा जाता है. इस फोन लाइन पर सीनियर सिटीजन को पेंशन, कानूनी मसलों, भावनात्मक सपोर्ट, उत्पीड़न से बचाव के लिए मदद, बेघर होने पर मदद आदि सहयोग मिलता है।

Comments are closed.