गर ये फिल्म न मिली होती तो एडल्ट फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा होतीं कंगना रनौत

-17 साल की उम्र में मॉडलिंग शुरु करने वाली कंगना ने काम की तलाश में साइन कर ली थी एडल्ट फिल्म

नई दिल्ली। बॉलीवुड की बिंदास और बेबाक अभिनेत्री कंगना रनौत का आज जन्मदिन है। कंगना का जन्म 23 मार्च 1987 को हिमाचल प्रदेश में हुआ था। वह आज अपने टैलेंट की बदौलत न सिर्फ बॉलीवुड की सबसे सफल अभिनेत्रियों में से एक हैं बल्कि अपनी एक फिल्म के लिए सबसे ज्यादा राशि लेने वाली अभिनेत्रियों में भी शामिल हैं। कंगना को पद्मश्री के साथ-साथ चार बार नेशनल अवॉर्ड मिल चुका है। वह बॉलीवुड ही नही देश से जुड़े तमाम राजनीतिक, सामाजिक और सांस्कृतिक मुद्दों पर भी अपनी बेबाक राय के लिए भी जानी जाती हैं।

17 साल की उम्र में अपना फिल्मी सफर शुरू करने वाली कंगना अभिनय की दुनिया में आने से पहले मॉडलिंग करती थीं। फिल्मों में कंगना ने एक से बढ़कर एक चैलेजिंग रोल किए लेकिन एक वक्त ऐसा था जब वह बॉलीवुड फिल्मों की तलाश में एडल्ट फिल्म इंडस्ट्री तक भी पहुंच गई थीं। ये बात खुद कंगना ने एक इंटरव्यू के दौरान बताई थी कि कैसे वे फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा बनने से पहले ही एक एडल्ट फिल्म साइन कर चुकी थीं।

कंगना के मुताबिक, ‘मुझे एक फोटोशूट कराना था, मैं उस समय अपनी टीनऐज में थी जब मुझे यह रोल ऑफर हुआ था। मैं जानती थी कि यह गलत है लेकिन फिर मैंने तय किया कि ठीक है, मैं यह कर लूंगी। लेकिन बाद में वह फोटोशूट मुझे किसी अश्लील फिल्म जैसा लग रहा था और मुझे लगा कि यह करना सही नहीं हैं क्योंकि वह सच में एक एडल्ट फिल्म थी। हालांकि बाद में किसी तरह मैं वहां से निकल गई।’

कंगना को पहली बार अनुराग बसु ने मौका दिया था। गैंगस्टर के लिए भी कंगना ने कई ऑडिशन्स दिए। महीनों इंतजार किया और आखिरकार फिल्म मिलने के बाद कंगना के करियर को एक नई दिशा मिली। दरअसल, साल 2005 में डायरेक्टर अनुराग बसु ने कंगना को एक कैफे में कॉफी पीते हुए देखा था और गैंगस्टर फिल्म का ऑफर दे दिया था। गैंगस्टर फिल्म के लिए कंगना को बेस्ट डेब्यू एक्ट्रेस के फिल्मफेयर अवॉर्ड से नवाजा गया था।

आज आलम यह है कि अपने टैलेंट की बदौलत कंगना न सिर्फ बॉलीवुड की सबसे सफल अभिनेत्रियों में से एक हैं बल्कि सबसे पॉपुलर भी हैं। कंगना के लिए ‘गैंगस्टर’ से लेकर ‘मणिकर्णिका’ तक का सफर काफी चुनौतियों भरा रहा लेकिन उन्होंने संघर्षों के किसी भी मोड़ पर हार नहीं मानी और इसीलिए आज वो सफलता की बुलंदियों पर हैं।

Comments are closed.