गौतम बुध नगर : स्कूलों में कैंप लगाकर बड़ी तादात में बच्चों को वैक्सीनेशन का किया जा रहा कार्य

 

रिपोर्ट : नितिन चौधरी

स्कूलों में कैंप लगाकर बड़ी तादात में बच्चों को वैक्सीनेशन का किया जा रहा कार्य है बढ़ते कोरोना सक्रमण को कंट्रोल करने के लिए जिला प्रशासन ने की पहल गौतम बुध नगर में बढ़ते कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन के अधिकारियों के द्वारा आज नोएडा के डीपीएस में बच्चों को वैक्सीनेशन कराने का कार्य शुरू किया गया है ताकि बच्चों में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने का काम किया जा सके साथ ही स्कूल प्रशासन को कोरोना वायरस का पूरी तरीके से पालन करने के दिशा निर्देश दिए गए हैं और स्कूल प्रशासन को साथ ही बच्चों को ले जाने वाले ट्रांसपोर्ट वाहन को गाइडलाइन के अनुसार ही इस्तेमाल करने के आदेश दिए गए हैं साथी डीएम गौतम बुध ने कहा कि शासन ने एनसीआर के जिलों में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है जिसके चलते सभी लोग मास का इस्तेमाल करें अपील करते हुए नजर भी आए।

गौतम बुध नगर में कुल मिलाकर प्राइवेट और सरकारी स्कूल मिलाकर लगभग 2000 स्कूल

नोएडा के डीपीएस स्कूल में वैक्सीनेशन कैंप लगाया गया जिसके चलते गौतम बुध नगर के डीएम सुहास अलवाई ने कैंप का निरीक्षण किया इस कैंप में 12 से 14 और 15 से 18 वर्ष तक के बच्चों को वैक्सीनेशन लगाई जा रही है ताकि जिले में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने का काम किया जा सके इसके साथ ही गौतम बुध नगर के डीएम सुहास एलवाई ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि शासन ने पहले ही दिल्ली से सटे जिलों में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है सभी लोग मास्क का इस्तेमाल करें ताकि संक्रमण का खतरा कम हो सके इसके साथ ही गौतम बुध नगर के डीएम ने स्कूलों को कोरोना वायरस का पालन करने के आदेश दिए और साथी जिन वाहनों से बच्चों को लाया जाता है उनका परिवहन अधिनियम के तहत जो गाइडलाइन जारी की गई हैं स्कूल गाइडलाइंस के अनुसार ही बच्चों को लाए ताकि बच्चे सकुशल स्कूल और घर पहुंच सके इसके साथ ही गौतम बुध नगर के डीएम सुहास एलवाई ने कहा कि गौतम बुध नगर में कुल मिलाकर प्राइवेट और सरकारी स्कूल मिलाकर लगभग 2000 स्कूल हैं सभी स्कूलों में सुरक्षा बरती जा रही है इसके साथ ही जिन स्कूलों में कोरोना संक्रमण के मामले निकल कर आ रहे हैं उन स्कूलों पर विशेष सावधानियां बरती जा रही है ताकि कोरोना संक्रमण आगे न फैल सके।

Comments are closed.