जीबीयू पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगों को कोरोना वायरस को लेकर करेगा जागरूक

कोरोना वायरस के कारण अवसाद में रहने वाले लोगों को लाया जाएगा बाहर

नोएडा: कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए जन समान्य के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए  गौतमबुद्ध विश्व विद्यालय ( जीबीयू) आगे आया है। विवि के रजिस्ट्रार डॉ. विश्वास त्रिपाठी को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पांच जनपदों में कोरोना वायरस पर जागरूकता बढ़ाने के लिए नेशनल काउंसिल फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी कम्युनिकेशन विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार द्वारा अनुदान प्राप्त हुआ है।
डॉ. त्रिपाठी इस प्रोजेक्ट के प्रिंसिपल इन्वेस्टिगेटर होंगे तथा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पांच रेड जोन जनपदों में यह अभियान चलाया जाएगा। इसमें आगरा, बुलंदशहर, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद एवं मेरठ जनपद शामिल हैं। डॉ. त्रिपाठी ने बताया कि प्रोजेक्ट का मुख्य उद्देश्य समाज के विभिन्न वर्गों विद्यार्थी, शिक्षाविद, सोशल वर्कर्स, हेल्थ विजिटर्स, व्यापारी वर्ग एवं जन सामान्य को कोरोनावायरस से जुड़े प्रमाणिक सूचनाओं के माध्यम से जागरूकता फैलाने का है। यह हेल्थ अवेयरनेस प्रोग्राम विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स, लेक्चर, वेबीनार, कम्युनिटी मीटिंग इत्यादि के माध्यम से किया जाएगा। कोरोना वायरस के कारण मानसिक अवसाद में रहने वाले लोगों को भी इस प्रोजेक्ट में काउंसलिंग की जाएगी एवं उन्हें मानसिक अवसाद से बाहर लाने का प्रयास किया जाएगा।

Comments are closed.