गोदभराई कर गर्भवती को बांटे गए पौष्टिक आहार

गर्भवती को टोकरी में कई प्रकार के पौष्टिक भोज्य पदार्थ जैसे अनाज, फल, हरी सब्जी, पुष्टाहार व अन्य चीजें बांटी गईं। 

अचल हरीमूर्ति

जौनपुर: मिशन शक्ति 4.0 के तहत महिला शक्ति केंद्र की टीम ने कांशीराम आवास परिसर स्थित आंगनबाड़ी केंद्र पर गोद भराई कार्यक्रम का आयोजन किया। इस दौरान गर्भवती को टोकरी में कई प्रकार के पौष्टिक भोज्य पदार्थ जैसे अनाज, फल, हरी सब्जी, पुष्टाहार व अन्य चीजें बांटी गईं। 

महिला शक्ति केंद्र की टीम ने गर्भावस्था के दौरान प्रसव तथा पूरी जांचों के बारे में बताया। बताया गया कि आयोडीनयुक्त नमक का प्रयोग, आयरन फोलिक एसिड गोली का सेवन गर्भावस्था के दौरान किस तरह से स्वास्थ्य की मदद करते हैं। इसके अलावा पौष्टिक आहार आदि के बारे में भी विस्तार से बताया गया। महिला शक्ति केंद्र की जिला समन्वयक प्रतिभा सिंह ने महिलाओं के हित में चलाई जा रही योजनाओं के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत सरकार माताओं को 6,000 रुपये की धनराशि देती है। यह सहायता उसे तीन किस्तों में मिलती है। इसके लिए गर्भ धारण करने के 150 दिनों के अंदर किसी भी सरकारी स्वास्थ्य इकाई में पंजीकरण कराकर जरूरी दस्तावेज देने पड़ते हैं। जिला समन्वयक बबीता ने बताया कि बेटियों की पढ़ाई के लिए मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना संचालित है। इसके तहत बेटी के जन्म से लेकर 12वीं तक की पढ़ाई उत्तर प्रदेश सरकार कराती है। बेटी के जन्म पर कन्या सुमंगला योजना के तहत 2,000 रुपये की धनराशि मां के खाते में भेजी जाती है। उसके बाद एक वर्ष तक का टीकाकरण पूर्ण होने पर 1,000 रुपये। कक्षा एक में प्रवेश के बाद 2,000 रुपये, कक्षा छह में प्रवेश के बाद 2,000 रुपये, नौंवी में प्रवेश के बाद 3,000 रुपये की धनराशि, 10वीं व 12वीं के बाद डिप्लोमा कोर्स या स्नातक में प्रवेश लेने पर सरकार 5,000 की धनराशि उसके खाते में भेजती है।

Comments are closed.