अराजक तत्वों को रोकने के लिए एनटीपीसी ने बंद किया गेट

गुस्साये विद्यार्थियों व अभिभावकों का जबरदस्त प्रदर्शन

ग्रेटर नोएडा। दादरी एनटीपीसी टाउनशिप का एक गेट बंद होने से नाराज अभिभावक और विद्यार्थियों ने जमकर हंगामा किया। गुस्साए लोगों ने मुख्य गेट पर ताला जड़ दिया और धरने पर बैठ गए। इससे एनटीपीसी के कर्मचारी और टाउनशिप में रहने वाले लोग अंदर कैद हो गए।

अभिभावकों का कहना था कि इस गेट से गांवों के बच्चे स्कूल में आते-जाते हैं। गेट बंद होने से स्कूली बच्चों को तीन किलोमीटर अतिरिक्त चलकर मुख्य गेट से निकलकर कर स्कूल जाना पड़ता है। जबकि प्रबंधन का कहना है कि स्कूली छात्र छात्राओं को पहले से आने जाने पर कोई आपत्ति नहीं है। उनके साथ कुछ अराजक तत्व टाउनशिप मे प्रवेश कर माहौल बिगाड़ रहे थे। इसलिए गेट को बंद किया गया है। बच्चों और अभिभावकों के हंगामे के बाद एनटीपीसी और ग्रामीणों में दोबारा से गेट खोलने पर सहमति बनने के बाद मामला शांत हुआ।

जानकारी के मुताबिक गेट पर ताला लगाकर धरने पर बैठे छात्र-छात्राएं व अभिभावक एनटीपीसी प्रशासन के ततारपुर गेट को बंद किए जाने का विरोध कर रहे थे। लोगों का आरोप था कि एनटीपीसी प्रबंधन ने सोमवार से टाउनशिप के ततारपुर गेट पर ताला जड़कर बच्चों के स्कूल आने-जाने पर रोक लगा दी है। अब स्कूली बच्चों को तीन किलोमीटर अतिरिक्त चलकर मुख्य गेट से निकलकर कर स्कूल जाना पड़ता है। एनटीपीसी टाउनशिप में डीपीएस, डीएवी, केन्द्रीय विद्यालय, बाल वाटिका स्कूल एनटीपीसी प्रबंधन के द्बारा संचालित किया जाता है। इन स्कूलों में दादरी और आसपास के दो दर्जन से अधिक गांवों के बच्चे पढ़ने आते हैं। टाउनशिप में अन्दर स्कूल जाने के लिए दो गेट हैं। एक मुख्य गेट है। दूसरा गेट ततारपुर की तरफ है। इस गेट से गांवों के बच्चे पिछले बीस वर्षों से आ-जा रहे हैं। सोमवार को अचानक एनटीपीसी प्रबंधन ने गेट बंद करवा दिया था।

हंगामे की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे कोतवाली जारचा प्रभारी प्रभाष चन्द के समझाने से भी लोग नहीं माने। उसके बाद दादरी के तहसीलदार पहुंचे और आसपास के ग्राम प्रधानों व धरनास्थल पर मौजूद पांच लोगों के प्रतिनिधिमंडल को एनटीपीसी प्रबंधन के साथ वार्ता कराई। इसमें सहमति बनी कि ततारपुर गेट से स्कूली बच्चों का आना जाना बंद नहीं किया जाएगा। बच्चों के साथ सीनियर सिटीजन को भी निकलने की अनुमति होगी। आराजक तत्वों को रोकने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए एनटीपीसी प्रबंधन को कहा गया है।

Leave A Reply