हार के बावजूद लवलीना ने रचा इतिहास, ओलंपिक में मेडल जीतने वाली भारत की तीसरी बॉक्सर बनीं

टर्की की सुरमेनेली बुसेनज से हार का सामना करना पड़ा

टोक्यो ओलंपिक के 69 किग्रा वेल्टर वेट केटेगरी के सेमीफाइनल में भारत की बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने  इतिहास रचने से चूक गई हैं.  इस मैच में जीत के साथ बोरगोहेन के पास फाइनल में प्रवेश करने का शानदार अवसर था लेकिन इस मैच में उन्हें टर्की की सुरमेनेली बुसेनज से हार का सामना करना पड़ा है. लवलीना को अब ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल से ही संतोष करना होगा.

वर्ल्ड चैम्पियन तुर्की की सुरमेनेली बुसेनज के साथ 23 वर्षीय लवलीना बोरगोहेन के लिए ये मुकाबला आसान नहीं था. सुरमेनेली बुसेनज इस मुकाबलें में अपनी ख्याति के ही अनुसार लवलीना पर शुरुआत से ही हावी रहीं और वह पहला राउंड 0-5 से जीत गई. पांचों जजों ने बुसेनाज सुरमेनेली को 10-10 अंक दिए, जबकि लवलीना बोरगोहेन को 9-9 अंक मिले.

Comments are closed.