मुठभेड़ में 25 हजार के इनामी दो कुख्यात अपराधी गिरफ्तार

हरियाणा और यूपी पुलिस के ज्वाइंट आॅपरेशन में मिली कामयाबी

इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के वैदपुरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत महौला गांव के पास अपराध शाखा और स्थानीय थाना पुलिस ने मुठभेड़ में 25-25 हजार रुपये के इनामी दो कुख्यात अपराधियों को गिरफ्तार किया है। दोनों बदमाशों पुलिस की गोली लगने से घायल हो गए। उन्हें सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा ने बताया कि संसदीय चुनाव के मद्देनजर चलाए जा रहे सघन चेकिंग अभियान के दौरान पुलिस को सूचना मिली कि उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा में सनसनीखेज वारदातों को अंजाम देने वाले गैंग के कुछ सदस्य एक लूटी हुई कार के जरिए इटावा की सीमा में प्रवेश कर रहे हैं। इस सूचना के आधार पर वैदपुरा पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने छिमारा तिराहे पर चेंकिग शुरू की। उस दौरान एक स्विफ्ट डिजाइर से दो लोग जाते हुए दिखाई दिए। रुकने का इशारा करने पर कार सवार बदमाशों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर भागने लगे। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए उनका पीछा किया और महोला के पास पकड़ लिया। पकड़े गए बदमाशों में गौरव यादव पुत्र चंद्रप्रकाश निवासी चिरैयापुरा, थाना ऐरवाकटरा जनपद औरैया व अमन उर्फ राहुल शर्मा पुत्र गोकलेंद्र शर्मा निवासी ललापुर थाना सिटी नानलोर जनपद महेंद्रगढ़ हरियाणा हैं।

एसएसपी ने बताया कि इस मुठभेड़ में हरियाणा पुलिस भी शामिल थी। हरियाणा पुलिस ने दो दिन पहले 25 हजार के इनामी बदमाश मोनू यादव पुत्र जगदीश निवासी गंडाला थाना नीमराना जनपद अलवर राजस्थान को पकड़ा था। मोनू के गौरव यादव व अमन साथी हैं। उसी की निशानदेही पर इन लोगों को घेरा गया था। उन्होंने बताया कि पुलिस की गोली से घायल गौरव यादव व अमन शर्मा को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एसएसपी ने पुलिस पार्टी को 15 हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।

उन्होंने बताया कि 28 फरवरी की वैदपुरा क्षेत्र में ड्राइवर को गोली मारकर कार लूटने के मामले में इन्हीं बदमाशों का हाथ है। इनके पास से दो तमंचे भी बरामद हुए हैं। यह गैंग दिल्ली, हरियाणा, पंजाब व उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में लूट व अपहरण की घटनाओं को अंजाम देता है। इनके अपराधिक इतिहास को खंगाला जा रहा है।

एसएसपी संतोष कुमार मिश्रा ने बताया कि गिरफ्तार दोनों अपराधियों का लुटेरों का बड़ा गैंग है। दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में लूट, अपहरण, हत्या समेत कई मामलों भी इन अपराधियों की भूमिका बताई गई है। इस गैंग का एक साथी मोनू इटावा पुलिस और हरियाणा पुलिस के ज्वाइंट आपरेशन में पहले ही पकड़ा जा चुका है। इन अपराधियों ने 28 फरवरी को इटावा में एक ड्राइवर को गोली मारकर गाड़ी लूट ली थी। उन्होंने बताया कि इस गैंग के अपराधियों की खासयित है कि ये किसी भी गैंग के साथ काम करने के लिए तैयार हो जाते हैं।

Leave A Reply