मथुरा की अदालत में श्री कृष्ण जन्मस्थान व शाही ईदगाह मामले में होने वाली सुनवाई टली,वकील की मौत के कारण शोक अवकाश घोषितली,अब 5 जुलाई को होगी सुनवाई

मथुरा की अदालत में श्री कृष्ण जन्मस्थान व शाही ईदगाह मामले में होने वाली सुनवाई टली,वकील की मौत के कारण शोक अवकाश घोषित

नगर संवाददाता

मथुरा: आज एक जुलाई को श्री कृष्ण जन्मस्थान व शाही ईदगाह मामले में मथुरा में सिविल जज सीनियर डिविजन की अदालत में होने वाली सुनवाई कंडोलेंस होने के चलते टल गई। अब इससे जुड़े विभिन्न वादों की सुनवाई 5 जुलाई और 15 जुलाई को होगी।

ग्रीष्मकालीन अवकाश समाप्त होने के बाद आज एक जुलाई को मथुरा में सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में श्री कृष्ण जन्मस्थान व शाही ईदगाह से जुड़े 9 वादों की सुनवाई होनी थी, लेकिन एक अधिवक्ता के निधन के बाद बार एसोसिएशन ने कंडोलेंस की घोषणा कर दी। जिसके चलते इन मामलों में सुनवाई नहीं हो सकी। अब इन सभी मामलों में सुनवाई 5 जुलाई और 15 जुलाई को होगी।

5 जुलाई को सुनवाई होगी

मनीष यादव और एडवोकेट महेंद्र प्रताप सिंह के प्रार्थना पत्र पर जहां 5 जुलाई को सुनवाई होगी तो वही रंजना अग्निहोत्री व दिनेश शर्मा का वाद 15 जुलाई को सुना जाएगा। श्री कृष्ण जन्मस्थान व शाही ईदगाह विवाद से जुड़े अन्य वादों की सुनवाई भी 5 और 15 जुलाई को ही की जाएगी। आपको बता दें कि श्री कृष्ण जन्मस्थान की 13.37 एकड़ भूमि के स्वामित्व को लेकर पूरा मामला अदालत में चल रहा है।

भूमि के मालिकाना हक को लेकर सुनवाई होनी थी

जिसमें आज इस भूमि के मालिकाना हक को लेकर सुनवाई होनी थी। इसके साथ ही वादियों ने शाही ईदगाह का एएसआई से सर्वे व वीडियो सर्वे कराने, उसमें हिंदू पक्ष को पूजा का अधिकार देने, रिसीवर नियुक्त करने संबंधी और शाही ईदगाह में हिन्दू पक्षकारों को जाने देने के प्रार्थना पत्र भी अदालत में दाखिल किए थे। जिन पर सुनवाई होनी थी जो कि 5 और 15 जुलाई को होगी। यहां यह भी महत्वपूर्ण है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 12 मई को श्री कृष्ण जन्मस्थान व शाही ईदगाह से जुड़े सभी मामलों को 4 माह में निपटाने की आदेश भी दिए थे, जिसके चलते आज की सुनवाई बेहद महत्वपूर्ण थी।

 

Comments are closed.