आईजीआई थाना पुलिस ने बीसीए सेकंड ईयर के छात्र को किया गिरफ्तार,कैब बुक करा करता था लूट

आईजीआई थाना पुलिस ने बीसीए सेकंड ईयर के छात्र को किया गिरफ्तार,कैब बुक करा करता था लूट

रिपोर्ट: राकेश रावत

आईजीआई थाना पुलिस ने बीसीए सेकंड ईयर के छात्र को गिरफ्तार किया है जो लंबी दूरी के लिए कैब बुक करा कर ड्राइवर से दोस्ती कर लेता था और फिर फ्रूटी में नशीला पदार्थ मिलाकर उसको बेहोश कर देता था. जिसके बाद वह कैब और सारा पैसा लेकर फरार हो जाता था. इस तरह के वह पहले आधा दर्जन से ज्यादा मामलों में शामिल रहा है. पुलिस ने उस से कैब और लूटा गया सामान भी बरामद कर लिया है.

आईजीआई एयरपोर्ट के डीसीपी तनु शर्मा ने बताया कि दीपक सिंह नामक एक कैब ड्राइवर ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि 23 जून को राजस्थान के जयपुर के लिए एक युवक ने कैब बुक कराई और रास्ते में उसको नशीला पदार्थ खिलाकर बेहोश कर दिया. जिसके बाद वह उसको कैब और गाड़ी में रखा सारा सामान लेकर फरार हो गया. पुलिस ने घटना की गंभीरता को देखते हुए तीन टीमों का गठन किया. तीनों टीमों के अथक प्रयासों के कारण लगभग 55 किलोमीटर के क्षेत्र को कवर करने और 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरे की फुटेज की जांच के बाद पुलिस को जानकारी मिली कि आरोपी अंकुश है जो हरि नगर का रहने वाला है.

पुलिस ने अंकुश को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में अंकुश ने बताया कि वह इग्नू से बीए सेकंड ईयर ड्रॉप आउट है और उसके पिता डीडीयू अस्पताल में सरकारी कर्मचारी के रूप में से रिटायर हुए हैं. उसने पहली बार उसने पहली बार इस तरह का केस 2015 में मोहाली पंजाब में किया. उसके बाद पंजाब पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था. फिर उसने कश्मीरी गेट थाने में भी एक ऐसा अपराध किया जिसमें वह गिरफ्तार हुआ और लगभग डेढ़ साल तक जेल की सजा काट के जमानत पर छूटा था.

पूछताछ में अंकुश ने बताया कि उसने जयपुर से ओला कैब बुक की और अपने दोस्ताना रवैये के कारण ड्राइवर से दोस्ती कर ली और बीच रास्ते में उसे फ्रूटी की बोतल में नशीला पदार्थ डालकर उसको पिला दिया. खाना खाने के बाद ड्राइवर बेहोश हो गया और वहां से वह गाड़ी लेकर दिल्ली एयरपोर्ट पर आ गया और उसने ड्राइवर को पोस्ट ऑफिस के पास तो उतार दिया और कार और सामान लेकर फरार हो गया था. पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज करके आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है.

 

Comments are closed.