अंतर्राष्ट्रीय ड्रग कार्टेल का पर्दाफाश, 30 करोड़ की ड्रग्स बरामद,गिरोह का मास्टरमाइंड गिरफ्तार

अंतर्राष्ट्रीय ड्रग कार्टेल का पर्दाफाश, 30 करोड़ की ड्रग्स बरामद,गिरोह का मास्टरमाइंड गिरफ्तार

रिपोर्ट: राकेश रावत

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने अंतर्राष्ट्रीय ड्रग कार्टेल का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने गिरोह के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से 45 किलो अफीम बरामदकी है जिसकी कीमत 30 करोड़ रूपए है। बरामद ड्रग्स मणिपुर से लाई गई थी और उसकी आपूर्ति भारत के विभिन्न हिस्सों में की जा रही थी।पुलिस ने आरोपी के कब्जे से एक ट्रक और तस्करी में इस्तेमाल किए गए मोबाइल फोन और सिम कार्ड भी बरामद किए गए।

स्पेशल सेल के डीसीपी राजीव रंजन ने बताया कि स्पेशल सेल ने ड्रग सप्लायर्स के खिलाफ अभियान में कई ड्रग सप्लायर्स को गिरफ्तार करके अफीम और हेरोइन की भारी खेप बरामद करके कई नशीले ड्रग कार्टेल का भंडाफोड़ किया था। पुलिस को सूचना मिली थी कि इस कार्टेल के सदस्य मणिपुर के आपूर्तिकर्ताओं से अफीम की खरीदने के बाद दिल्ली, एनसीआर, यूपी में अफीम की आपूर्ति करते है। यह गिरोह म्यांमार की अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के आसपास के पहाड़ी क्षेत्रों से कच्चा माल एकत्र करते हैं।

जाँच के दौरान इस कार्टेल के सदस्यों की पहचान की गई और एक टीम का गठन किया गया। पुलिस को जाँच के दौरान पता चला कि उत्तराखंड के बाजपुर निवासी दिलबाग मणिपुर निवासी लिमनथांग से अफीम खरीद कर सप्लाई करता है। पुलिस को सूचना मिली कि जसवीर दिल्ली के सुरेंद्र को हेरोइन की आपूर्ति करने के लिए राजघाट डीटीसी डिपो के पास रात 8:30 बजे से 9:30 बजे के बीच आएगा। पुलिस ने उक्त जगह जाल बिछा दिया और रात 9 बजे पुलिस ने आरोपी को एक ट्रक के साथ पकड़ लिया। आरोपी की पहचान जसवीर सिंह के रूप में हुई। गिरफ्तार आरोपी के ट्रक से चावल से भरी 566 बोरी के बीच में 45 किलो अफीम बरामद हुई।

गिरफ्तार जसवीर सिंह ने पूछताछ में बताया कि वह एक अंतरराज्यीय मादक सिंडिकेट का हिस्सा है। उसने बताया कि वह पिछले 5-6 वर्षों से मादक पदार्थों की तस्करी की गतिविधियों में लिप्त है। उसने पूछताछ में पुष्टि की कि बरामद अफीम उसे मणिपुर निवासी लेनमिंगथांग ने उत्तराखंड के बाजपुर निवासी दिलबाग के निर्देश पर पहुंचाया था। उसने बताया कि दिलबाग मोबाइल फोन पर लेनमिंगथांग के साथ संवाद करता था और उसे असम और मणिपुर के विभिन्न स्थानों पर लेनमिंगथांग से अफीम की आपूर्ति प्राप्त करने का निर्देश देता था। वह अपने ट्रक में मणिपुर और असम के पहाड़ी इलाकों तक विशेष रूप से लेनमिंगथांग से अफीम खरीदने के लिए यात्रा करता था। पुलिस ने उसके खिलाफ मामला दर्ज करके आगे की कार्यवाई शुरू कर दी है।

Comments are closed.