इटावा: अमरनाथ यात्रियों ने जिला चिकित्सालय अमरनाथ यात्रा काउंटर बंद होने से काटा हंगामा

अमरनाथ यात्रा रजिस्ट्रेशन बोर्ड की बैठक मंगलवार और शनिवार को होती है।

नीलकमल

इटावा: 2 वर्षों के बाद 30 जून से प्रारंभ हो रही अमरनाथ यात्रा के रजिस्ट्रेशन हेतु मेडिकल किये जाने की अनिवार्यता के चलते अमरनाथ यात्रियों के लिए सरकार द्वारा सभी अस्पतालो में अमरनाथ यात्रा रजिस्ट्रेशन बोर्ड के साथ पर्चा बनने के लिए अलग से अमरनाथ यात्रा रजिस्ट्रेशन काउंटर खोले जाने की व्यवस्था की है। इसके विपरीत इटावा अस्पताल में अलग चिकित्सा काउंटर ने खोले जाने से अमरनाथ यात्री भड़क उठे और जमकर काटा हंगामा।
इटावा जनपद में जिला चिकित्सालय पुरुष में विकलांग काउंटर पर सिर्फ पर्चा चिपकाकर प्रशासन ने इतिश्री कर ली है जिससे अमरनाथ यात्रा के लिये मेडिकल कराने वाले श्रद्धालुओं और मरीजों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। एक ही काउंटर पर बीमार और अमरनाथ यात्रियों के रजिस्ट्रेशन के पर्चा बनाए जा रहे थे। लंबी भीड़ जुट जाने से बीमार और अमरनाथ यात्री दोनों को भारी परेशानी उठानी पडी और अमरनाथ यात्री जिला अस्पताल में नारेबाजी करते हुए हंगामा करने लगे जिस पर अमरनाथ बर्फानी सेवा मंडल के अध्यक्ष ओम रतन कश्यप ने मरीज पंजीकरण कार्यालय प्रमुख मीना चतुर्वेदी से अमरनाथ यात्रा काउंटर खोले जाने की मांग की और कहा कि मुख्यमंत्री जी ने पर्चा बनाने के लिए अलग से अमरनाथ यात्रा रजिस्ट्रेशन काउंटर खोले जाने की व्यवस्था की है। जिस पर पंजीकरण कार्यालय प्रमुख मीना चतुर्वेदी ने जवाब दिया कि यह काउंटर नहीं खुलेगा हमारे पास स्टाफ नहीं है आप मुख्यमंत्री जी से स्टाफ मंगवा लीजिए तभी अमरनाथ यात्रियों का रजिस्ट्रेशन संभव हो पाएगा यदि रजिस्ट्रेशन कराना है तो इसी लाइन में लगना पड़ेगा। उपरोक्त घटनाक्रम की जानकारी मंडल के अध्यक्ष ने सीएमएस एमएमआर्या को दी काफी मशक्कत के बाद सीएमएस को पंजीकरण कार्यालय आकर स्वयं स्थिति को देखना पड़ा और उन्होंने आकर अमरनाथ यात्रियों को समझाया। अमरनाथ यात्रियों ने कहा कि हम अमरनाथ यात्रा रजिस्ट्रेशन काउंटर पर ही अपना पर्चा बनावायेगे अमरनाथ यात्री अपनी मांग पर अड़े रहे। काफी जद्दोजहद के बाद 1.30 बजे अमरनाथ यात्रा पंजीकरण काउंटर खोला गया तब तक 200 से अधिक दूरदराज से आए अमरनाथ यात्री बिना मेडिकल कराए वापस लौट गए अमरनाथ यात्रियों में अस्पताल प्रशासन के प्रति काफी रोष है।

अमरनाथ यात्रा रजिस्ट्रेशन बोर्ड की बैठक मंगलवार और शनिवार को होती है। जिसमें अमरनाथ यात्रियों का स्वास्थ्य परीक्षण कर स्वास्थ्य प्रमाण पत्र जारी किये जाते जिसमें श्री आनन्देश्वर महाराज अमरनाथ बर्फानी सेवा मंडल,अमरनाथ बर्फानी सेवा समिति एवं श्री भोले अमरनाथ सेवा समिति के सेवादार जाने वाले यात्रियों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने में सहयोग करते हैं। अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के चलते अभी तक मात्र 416 अमरनाथ यात्रियों का मेडिकल परीक्षण हो पाया है।

Comments are closed.