इटावा: माँ ने देवर के साथ मिलकर की अपनी बेटी की हत्या

घटना का खुलासा करते हुए पुलिस द्वारा 3 अभियुक्तो को गिरफ्तार किया गया है।

नीलकमल

इटावा: जसवंतनगर थाना क्षेत्र में एक सनसनी खेज मामला सामने आया है जहाँ एक माँ ने अपने देवर और देवर के दोस्त के साथ मिलकर अपनी नाबालिक बेटी की हत्या कर शव को नहर में फेंक दिया। इस घटना का खुलासा करते हुए पुलिस द्वारा 3 अभियुक्तो को गिरफ्तार किया गया है।

एसपी सिटी कपिल देव सिंह ने बताया कि 13 अप्रैल को जसवन्तनगर थाना क्षेत्र के ग्राम भतौरा नहर पुल में पानी में एक अज्ञात बालिका का शव बरामद हुआ था जिसकी शिनाख्त अरविन्द धोबी की पुत्री निवासी ग्राम कछपुरा थाना जसवन्तनगर इटावा के रूप हुयी थी। शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या का कारण एन्टीमोर्टम स्टेगुलेशन आया। शव मिलने के कई दिनों बाद 18 अप्रैल को मृतका की मां रेनू देवी पत्नी अरविन्द कुमार द्वारा अभियुक्त गण भागीरथ तथा शिवसागर पता अज्ञात द्वारा मृतका को बहला फुसलाकर भगा ले जाने तथा हत्या करके शव नहर में फेक देने का मुकदमा जसवंतनगर थाना में दर्ज कराया गया था।
एसपी सिटी ने बताया कि घटना की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी द्वारा टीम गठित कर घटना का खुलासा करने ने निर्देश दिए थे। पुलिस की जांच में सामने आया कि नाबालिग बालिका की हत्या में उसके परिजनों का ही हाथ है। जांच के बाद हत्या के आरोप में पुलिस द्वारा मृतक बालिका की माँ उसके चाचा और चाचा के एक साथी को गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस द्वारा पूछताछ करने पर अभियुक्तों द्वारा बताया गया की मृतक नाबालिग बालिका पहले दिल्ली में अपने परिवार के साथ रहती थी जहाँ पर उसके मोहल्ले में ही रहने वाले लडके भागीरथ से दोस्ती हो गयी थी । बदनामी की वजह से लडकी के पिता ने अपनी लडकी व पत्नी को गांव भेज दिया था फिर भी मृतका अपने दोस्त भागीरथ के सम्पर्क में थी और 12 अप्रैल को भी भागीरथ अपने दोस्त शिवसागर के साथ मृतका के गाँव के पास देखा गया था। मृतका के परिजनों को बालिका के भगीरथ के साथ चले जाने पर बदनामी के डर से अभियुक्तों द्वारा बालिका की हत्या कर शव को मोटरसाइकिल से ले जा कर नहर में फेंक दिया गया था। गिरफ्तार अभियुक्तों की निशानदेही पर घटना में शामिल मोटरसाइकिल व मृतिका का मोबाइल फोन एक अभियुक्त के घर से बरामद किया गया है।

Comments are closed.