इटावा: पुलिस लाइन में तैनात सिपाही ने की आत्महत्या की कोशिश

सिपाही को इलाज के लिए मुख्यालय के डॉ. भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

नीलकमल

इटावा: उत्तर प्रदेश के इटावा जिले की पुलिस लाइन में तैनात एक पुलिसकर्मी ने प्रतिसार निरीक्षक के उत्पीड़न से तंग आकर के फिनायल पी करके जान देने की कोशिश की ।
सिपाही के जहरीला पदार्थ खाकर के जान लेने की कोशिश का मामला सामने आने के बाद पुलिस अमले में हड़कंप मच गया है।
फिनायन पीने वाले सिपाही को इलाज के लिए मुख्यालय के डॉ. भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

उत्पीड़न का शिकार सिपाही राजेश कुमार ने रोते-रोते अपनी व्यथा बताइए कि उसको प्रतिसार निरीक्षक 2 महीने से उत्पीड़न करने में लगे हुए हैं इसी कारण आज उसने फिनायल पी करके जान देने की कोशिश की है।

सिपाही राजेश कुमार की पत्नी सुमन बताती है कि पुलिस लाइन के प्रतिसार निरीक्षक उसके सिपाही पति का लगातार उत्पीड़न कर रहे हैं और जब सीमा पार हो गई तो आज उन्होंने फिनायल पी कर के अपनी जान देने की कोशिश की है नाजुक हालत में ऊपचार के लिए अस्पताल लाया गया है।

सिपाही का ऊपचार करने वाले डॉ भीमराव अंबेडकर संयुक्त चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ. श्याम मोहन यादव ने बताया कि पुलिस लाइन से एक सिपाही अपने अधिकारियो के उत्पीड़न के कारण जहरीला पदार्थ सेवन करके लाया गया है जिसका उपचार करने में डॉक्टरों की टीम लगी हुई है।

इटावा के पुलिस उपाधीक्षक अमित कुमार सिंह पूरे मामले को ले करके बताते हैं कि देर रात उनके संज्ञान में यह मामला आया जिसके बाद वह खुद उस सिपाही को अस्पताल में देखने के लिए गए थे । सिपाही के द्वारा किस तरह का विषाक्त पदार्थ खाया गया और इसकी क्या वजह रही है इस पूरे मामले की गहनता और गंभीरता से जांच की जा रही है। प्रतिसार निरीक्षक पर लगाए गए आरोपों के जवाब में उन्होंने कहा कि इस प्रकरण को भी संज्ञान में लाया गया है जिसकी जांच की जा रही है।

Comments are closed.