इटावा: उत्तर प्रदेश की 17 जातियां पिछड़ा वर्ग से अनुसूचित जाति में शामिल

के के राज ने बताया कि अनुसूचित जाति में शामिल हुईं इन 17 जातियों का विश्वास अब भाजपा के प्रति और ज्यादा बढ़ेगा ।

नीलकमल

इटावा: उत्तर प्रदेश की पिछड़ा वर्ग म शामिल 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल कर लिया गया है। उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति/जनजाति आयोग के सदस्य के.के. राज ने सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस आयोजित प्रेसवार्ता में कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने जिन 17 जातियों को पिछड़े वर्ग से अनुसूचित जाति में शामिल करने का जो प्रस्ताव केंद्र सरकार के पास भेजा था उस पर केंद्र की मोदी सरकार केबिनेट ने अपनी मुहर लगाकर इस प्रस्ताव को पारित कर दिया है।

के के राज ने बताया कि अनुसूचित जाति में शामिल हुईं इन 17 जातियों का विश्वास अब भाजपा के प्रति और ज्यादा बढ़ेगा ।
उन्होंने कहा कि हाल ही में संपन्न हुये उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भी अनुसूचित वर्ग की जातियों ने भाजपा को वोट देने का काम किया है।

उन्होंने बताया कि पिछड़े वर्ग से जिन 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल किया गया है उनमें कहार, कश्यप, मल्लाह, निषाद, कुम्हार, प्रजापति, धीवर, विंद, भर, मांझी, मछुआ, राजभर, बाथम, तुरहा और गौड़िया आदि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इन जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने से सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का लाभ इनको मिलेगा जिससे सरकार और पार्टी के प्रति इनका विश्वास बढेगा। उन्होंने कहा कि  भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में जो लिखा था वो पूरा किया है।

Comments are closed.