आग का शोला बनी सड़क पर दौड़ रही बाइक

इटावा की घटना, देवदूत बनकर आए पीआरपी के जवान

इटावा। उत्तर प्रदेश के इटावा जिले की यूपी-100 के जवानों ने अपनी सजगता के चलते देश के सबसे अहम आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर मोटर साइकिल में लगी आग के बीच एक ही परिवार के तीन सदस्यों की जान बचा ली। 

इटावा जिले के सैफई इलाके में आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे पर फर्राटे से जा रही बाइक पर एक ही परिवार के तीन लोग सवार थे। शाम करीब पांच बजकर 55 मिनट पर तेज गति से जा रही बाइक में अचानक आग लग गई। मोटर साइकिल के पिछले हिस्से में आग लगी थी। इस बात का एहसास बच्चे समेत सवार दंपित को नहीं था। वहां तैनात पीआरपी 1617 के जवानों ने देख लिया। उसके बाद जवानों ने हूटर के जरिये एलर्ट करते हुए मोटर साइकिल को रुकवाया और उन्हें किसी तरह आग के चंगुल से सकुशल बाहर निकाला। खास बात यह है कि पीआरपी जवानों ने इस मामले को खुद संज्ञान लेते हुए मोटर साइकिल में लगी आग को बुझाकर एक परिवार के तीन लोगों की प्राण रक्षा की।

इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा ने सोमवार को बताया कि रविवार शाम को पीआरवी 1617 एक्सप्रेस हाइवे पर अपने निर्धारित रुट पर थी। तभी 108 किलोमीटर से अगले प्वाइंट पर जाते समय पीआरवी कर्मियों ने देखा कि पीआरवी को तेजी से क्रास कर गुजरी एक मोटरसाइकिल में पीछे टंगे बैग में तेज आग लगी हुई है। पीआरवी कर्मियों ने बिना देरी किये मोटर साइकिल पर सवार दंपत्ति और एक बच्चे का लगभग चार किलोमीटर तक पीछा किया और 112 किलोमीटर पर मोटर साइकिल को रुकवा कर तेजी से बढ़ रही आग को बुझाया और सभी के जीवन की रक्षा की।

एसएसपी ने बताया कि मोटर साइकिल सवार स्वतंत्र शाक्य पुत्र वीर बहादुर निवासी थाना बहनाहल जिला मैनपुरी अपनी पत्नी आरती और बच्ची के साथ जा रहे थे। तभी आग लगने से अफरा तफरा फैल गई। ड्यूटी पर तैनात पीआरवी जवानों ने अपने कर्तव्य और मानवीय भावना का परिचय देते हुए अपने कार्य को बखूबी अंजाम दिया। उन्होंने बताया कि यूपी 100 की इस त्वरित कार्रवाई से बड़ी जनहानि होने से बच गई। इसकी हर ओर प्रशंसा हो रही है। उन्होंने बताया कि पीआरवी 1617 के कमाण्डर- एचसी ओम सिंह, सब-कमाण्डर आरक्षी विक्रम सिंह और पायलट अमित बैसला ने प्रशंसनीय कार्य करके इटावा पुलिस का मान बढ़ाया है। तीनों के इस प्रशंसनीय कार्य के लिए इटावा पुलिस जल्द ही उन्हें सम्मानित करेगी।

Leave A Reply