इटावा: रहस्यमयी बीमारी का कहर, 3 भाई-बहनों समेत 6 लोगो की मौत

-मीडिया में खबर फैलने के बाद सांसद प्रो. रामशंकर कठेरिया और मुख्य चिकित्सा अधिकारी समेत स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारी सोमवार को पहुंचे मौके पर

इटावा, (नीलकमल)। जनपद के डूडपूरा गांव में डेंगू के कहर से 4 दिन में 1 ही माँ बाप के 3 बच्चो समेत 6 लोगो की मौत हो गई। मीडिया में खबर चलने के बाद जिला प्रशासन गांव की ओर दौड़ पड़ा। पड़ोसी जनपद फ़िरोज़ाबाद में एक माह से बुखार का कहर फैला हुआ है और सैकड़ो लोगो की जान जा चुकी है लेकिन इटावा का जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग सोया हुआ है। मीडिया में खबर फैलने के बाद सांसद प्रो. रामशंकर कठेरिया और मुख्य चिकित्सा अधिकारी समेत स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारी सोमवार को मौके पर पहुंचे।

पूर्व केंद्रीय मंत्री सांसद प्रो रामशंकर कठेरिया ने गांव में पहुंच कर मृतक परिजनों से शोक संवेदना व्यक्त की और पीड़ित परिजनों से मुलाकात की और उन्हें हर सम्भव मदद का भरोसा दिया। रहस्यमय बुखार से काल के गाल में समा गए लोगो के परिजनों और पीड़ितों से मिलने पहुचे सपा जिलाध्यक्ष गोपाल यादव ने स्वास्थ्य विभाग को कटघरे में खड़ा करते हुए लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। सपा नेता कुलदीप गुप्ता संटू ने कहा कि गांव में लंबे समय से बीमारी फैली हुई थी लेकिन किसी ने इस ओर ध्यान नही दिया जिसकी वजह से एक ही घर में 3 भाई बहन बुखार से मौत के मुँह में समा गए। अरविंद यादव फेरु ने स्वास्थ विभाग को जिम्मेदार ठहराया।

सांसद प्रो रामशंकर कठेरिया ने मुख्य चिकित्साधिकारी को कड़े शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि गांव में मेडिकल टीम तैनात की जाए और लगातार लोगो के स्वास्थ पर नज़र रखी जाए। उनको हर सम्भव मदद दी जाए। सांसद ने सीएमओ को सख्त लहजे में कहा कि पूरे गांव में असली दवाओं का छिड़काव किया जाए। सांसद ने कहा कि ऐसी दवाओं का छिड़काव किया जाए जिससे मच्छर मरे, सिर्फ खानापूर्ति न की जाए।

दूसरी तरफ सीएमओ भगवान सिंह भिरोरिया ने डेंगू से मौत होने से इनकार करते हुए कहा कि अभी तक एक भी मौत डेंगू से नही हुई है, जबकि इससे पहले भी बीजेपी के इकदिल मंडल अध्यक्ष की बुखार से मौत को डेंगू से हुई मौत मानते हुए सांसद प्रो. कठेरिया ने स्वास्थ्य विभाग को कड़े शब्दों में चेतावनी दी थी। लेकिन स्वास्थ विभाग के कानों पर जूं तक नही रेंग रही है।स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी बुखार से हो रही मौतों को डेंगू से हुई मौत नही मान रहे हैं लेकिन मौत का सही कारण भी स्पष्ट नही कर पा रहे हैं।

Comments are closed.