जल शक्ति मंत्री ने दी भारत की युवा पीठ को उद्यमिता के रास्ते पर शुद्ध जोश के साथ अग्रसार होने की सलाह

जल शक्ति के मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने भारत की युवा पीठ को उद्यमिता के रास्ते पर शुद्ध जोश के साथ अग्रसार होने की सलाह दी

अभिषेक ब्याहुत 

नोएडा: ग्रेटर नोएडा स्थित आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी में शनिवार को 5 वां अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन “उद्यमिता और बौद्धिक संपदा अधिकार” विषय पर आयोजित किया गया। सम्मलेन में वर्तमान समय में बौद्धिक संपदा अधिकारों के संबंध में चर्चा की गयी। मेजर जनरल आलोक कक्कड़, सीओएस दिल्ली क्षेत्र और अध्यक्ष-एआईएमटी ने ज़ोर डालते हुए कहा कि भारत को उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए बुनियादी ढांचे पर काम करने की जरूरत है। जल शक्ति के मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने भारत की युवा पीठ को उद्यमिता के रास्ते पर शुद्ध जोश के साथ अग्रसार होने की सलाह दी।
सम्मेलन में निदेशक-एआईएमटी एयर कमोडोर (डॉ.) जेके साहू ने कहा जब उद्यमी अपने बौद्धिक संपदा अधिकारों का उपयोग करते हैं, तो उन्हें बाजार में प्रतिस्पर्धात्मक लाभ प्राप्त होगा।अंतर्राष्ट्रीय परिवेश में एच. ई. रूबेन गौसी, उच्चायुक्त- माल्टा गणराज्य ने भारत में बढ़ते उद्यमिता के रूझान की सराहना की। सम्मेलन में कॉरपोरेट जगत की जानी-मानी हस्तियां जैसे  नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर एंटरप्रेन्योरशिप एंड स्मॉल बिजनेस डेवलपमेंट के पूर्व निदेशक डॉ. एस पी मिश्रा, इन्नोमपिक्स के संस्थापक और वैश्विक समन्वयक वादिम कोटेलनिकोव, बोर्ड सदस्य-सनमोक्ष के निदेशक अतुल बिहारी भटनागर, मैनेजिंग पार्टनर सुश्री गुंजन पहाड़िया ने उद्यमिता पर अपने विचार व्यक्त किए।    

Comments are closed.