जमानत के लिए आर्यन खान की दलीलें नामंजूर, 7 अक्टूबर तक रहेंगे एनसीबी की कस्टडी में

-आर्यन ने कोर्ट में कहा- चाहूं तो पूरा जहाज खरीद सकता हूं, लेकिन मैंने वहां ड्रग्स नहीं बेची

मुंबई। ड्रग्स मामले में गिरफ्तार बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की दलीलें खारिज करते हुए कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका नामंजूर कर दी। अब आर्यन सात अक्टूबर तक नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की कस्टडी में रहेंगे।गौरतलब है कि आर्यन को एनसीबी ने शनिवार को मुंबई से गोवा जाने वाले क्रूज में आयोजित एक रेव पार्टी से गिरफ्तार किया था।

इस संबंध में कोर्ट ने एनसीबी को आर्यन की एक दिन की रिमांड दी थी।उसके बाद आर्यन खान को अन्य आरोपियों के साथ कोर्ट में पेश किया गया। इस दौरान एनसीबी ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन को लेकर कोर्ट से 13 अक्टूबर तक की कस्टडी मांगी तो दूसरी ओर उनकी पैरवी कर रहे वकील सतीश मानशिंदे ने अपने तर्क रखे। उन्होंने कोर्ट से आर्यन को बेल देने की बात कही थी। लेकिन कोर्ट ने आर्यन खान को जमानत नहीं देने का फैसला किया। अब आर्यन सात अक्टूबर तक एनसीबी की कस्टडी में रहेंगे।

आर्यन खान की 10 दलीलें :

अब तक 48 घंटे पूरे हो गए हैं, मेरे खिलाफ कुछ भी नहीं मिला है। आगे की कस्टडी के लिए किसी भी अपील को अस्वीकार किया जा सकता है। उन्हें जो भी मुझसे पूछताछ करनी थी, वो कर चुके हैं। मैंने पूरा सहयोग किया है, और वे भी मेरे साथ अच्छे थे। मैंने अपना अच्छा आचरण दिखाया। मैंने अपने फोन से कुछ भी डिलीट नहीं किया है: सतीश मानशिंदे (आर्यन खान के वकील)

मानशिंदे: इस बात का कोई सबूत नहीं है कि आर्यन खान ने ड्रग्स खरीदा या बेचा। एस 37 के तहत यह लागू नहीं होता। मैं भी एक 24 साल का लड़का हूं, जिसका कोई पुराना रिकॉर्ड नहीं है। जो दूसरों को साथ किया गया वह मुझ पर थोपा नहीं जा सकता।

मानशिंदे: मेरा कोई आपराधिक इतिहास नहीं है। मैंने अपना अच्छा आचरण दिखाया। मैं अधिकारियों को देखकर नहीं भागा। मैंने उन्हें जांच करने की अनुमति दी। इसलिए एनबीसी को कस्टडी नहीं दी जानी चाहिए। बिना पुष्टि के फोन पर बात करना अपराध नहीं है।

मानशिंदे का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पता चलेगा कि इस मामले में कार से प्रतिबंधित पदार्थ बरामद हुए थे या नहीं।

एएसजी सिंह – तो क्या? यहाँ इसे जहाज से बरामद किया गया है।
मानशिंदे- जहाज मेरा नहीं है। आपको जहाज पर सवार 1000 को गिरफ्तार करना चाहिए था।

मानशिंदे- एक दिन की भी रिमांड के लिए आरोपों को देखने होंगे। जो कुछ भी दूसरों से जब्त किया गया है।वह मुझ पर थोपा नहीं जा सकता। फोन से मिली चैट मेरी कस्टडी से मेल नहीं खाता है।

मानशिंदे – मैं अब रिया केस के फैसले को देखूंगा। ऐसे दावे हैं कि वह फाइंनेंस और आश्रय दे रही थी। वित्त पोषण का अर्थ यह समझना होगा कि वित्तपोषण किसी न किसी पर आजीविका का एक साधन है। यहां पर ठिकाने लगाने का भी शुल्क नहीं है।

सतीश मानशिंदे ने कहा – आर्यन खान को शिप में ड्रग्स बेचने की जरूरत नहीं है। वह शिप में क्यों गए थे इससे एनसीबी को कोई मतलब नहीं। आर्यन चाहे तो पूरा शिप खरीद सकते हैं।

सतीश मानशिंदे-आर्यन खान को पार्टी में स्पेशल गेस्ट के रूप में बुलाया गया था। आर्यन खान का पार्टी आयोजन से कोई सीधा नाता नहीं है। आर्यन के पास तो शिप का टिकिट और बोर्डिंग पास भी नहीं था।

सतीश मानशिंदे- आर्यन खान की व्हाट्सऐप चैट से कुछ खास जानकारी नहीं मिली है। आर्यन खान का ड्रग्स की खरीददारी और बेचने से कोई सीधा सम्बंध नहीं है।

एनसीबी ने आरोप लगाया कि आर्यन खान ड्रग सिंडिकेट का हिस्सा हैं। इस पर सतीश मानशिंदे ने कहा कि आर्यन ने विदेश से पढ़ाई की है। वह अभी अभी इंडिया आए हैं, वह भला कैसे किसी सिंडिकेट का हिस्सा हो सकते हैं।

Comments are closed.