जनपद की तीन सीएचसी को मिला कायाकल्प अवार्ड

बेहतर स्वास्थ्य सुविधा के साथ साफ-सफाई एवं संक्रमण नियंत्रण के लिए दिया जाता है पुरस्कार जनपद में बिसरख सीएचसी अव्वल

नोएडा: जनपद के तीन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) बिसरख, भंगेल और बादलपुर को कायाकल्प अवार्ड योजना के अंतर्गत वर्ष 2020-21 का पुरस्कार मिला है । राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन उत्तर प्रदेश की मिशन निदेशक अपर्णा उपाध्याय द्वारा कायाकल्प अवार्ड के लिए चुने गये 215 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की सूची जारी की गयी है,जिसमें जनपद के तीन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शामिल हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुनील कुमार शर्मा ने बताया कि केन्द्र सरकार ने सभी चिकित्सा इकाइयों में स्वच्छता व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के लिए वर्ष 2015 में कायाकल्प अवार्ड की शुरुआत की थी। उन्होंने बताया जिला अस्पताल, उप-विभागीय अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली के तहत स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र, जो उच्च स्तर की स्वच्छता, साफ-सफाई एवं संक्रमण पर नियंत्रण और  बेहतर चिकित्सा सुविधा के मूल्यांकन में खरे उतरते हैं, उन्हें कायाकल्प अवार्ड दिया जाता है। इसमें चिकित्सा इकाई पर रोगी की संतुष्टि का भी मूल्यांकन किया जाता है।

प्रोग्राम असिस्टेंट गोविन्द पांडेय ने बताया कि कायाकल्प से पुरस्कृत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिसरख को 86.1 अंक, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भंगेल को 79.2 और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बादलपुर को 74.8 अंक मिले हैं। उन्होंने बताया केन्द्र सरकार के निर्देशानुसार अवार्ड के लिए प्राविधानित धनराशि का 75 प्रतिशत चिकित्सालय के नेशनल क्वालिटी एश्योरेंस स्टैंडर्ड एवं कायाकल्प अवार्ड स्कीम के अंतर्गत चिन्हित गैप क्लोजर, सुदृढ़ीकरण, रखरखाव, स्वच्छता व्यवस्था इत्यादि सुनिश्चित किये जाने के लिए उपयोग किया जाता है, जिससे चिकित्सालय के स्कोर में वृद्धि हो सके। शेष 25 प्रतिशत धनराशि चिकित्सा इकाइयों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों (नियमित, संविदा एवं आउटसोर्स) के उत्साहवर्धन के लिए इंसेंटिव के रूप में दी जाती है।

Comments are closed.