जौनपुर नगरपालिका परिषद का कारनामा, मृत सभासद को बनाया निगरानी समिति का अध्यक्ष

-बीते साल की फरवरी में सभासद बाला लखंदर यादव की सिटी स्टेशन पर हो गई थी हत्या

जौनपुर, (इन्द्रजीत सिंह मौर्य/प्रणय तिवारी)। उत्तर प्रदेश में नोवल कोरोना वायरस रोग (कोविड-19) से हो रही मौतों को लेकर जहां देश स्तर पर हड़कंप मचा है। वहीं, जौनपुर नगर पालिका प्रशासन बेहद गैर जिम्मेदारी पूर्ण कार्य कर रहा है। हद तो तब हो गई जब नगर पालिका परिषद जौनपुर के अधिशासी अधिकारी संतोष मिश्र और स्वच्छ भारत मिशन की जिला कोऑर्डिनेटर खुशबू यादव ने एक ऐसी सूची जारी कर दी जिसे देख कर हर कोई अचंभित है।

हम बात कर रहे हैं नगर पालिका परिषद जौनपुर द्वारा बनाई गई मोहल्ला निगरानी समिति की। इस समिति में सैदनपुर वार्ड के मृतक सभासद बाला लखंदर यादव को भी अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंप दी गई है, जबकि बाला लखंदर की पिछले साल एक फरवरी 2020 को जौनपुर के सिटी रेलवे स्टेशन पर हत्या हो चुकी है।

ऐसे में सहज ही कल्पना की जा सकती है कि जौनपुर में कोविड-19 संक्रमित मरीजों की देखभाल और उनकी निगरानी के लिए बनाई जा रही समिति भी सिर्फ कागजों तक ही सीमित है। मुख्यमंत्री के सख्त निर्देश पर डीएम मनीष कुमार वर्मा की अगुवाई में इस अहम कार्य को पालिका प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने बिना जांचे समझे ही अंजाम दे दिया और निगरानी समिति की फाइनल सूची जारी कर दी।

इससे साफ जाहिर हो रहा है कि निगरानी समिति में शामिल किए गए सदस्यों और पदाधिकारियों की जांच पड़ताल किए बिना और बंद कमरे में बैठकर अधिकारियों ने सूची को मूर्त रूप दे दिया। इस सूची के महत्व की बात करे तो इस पर जौनपुर नगरपालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी संतोष मिश्र और स्वच्छ भारत मिशन की जिला कोऑर्डिनेटर खुशबू यादव के हस्ताक्षर साफ दिखाई दे रहे हैैं।

एक ही व्यक्ति को दो वार्डों में कर दिया नियुक्त

जौनपुर। खामियां यही नहीं खत्म हुई, मनमोहन सिंह नामक एक व्यक्ति को दो वार्डों में सदस्य बनाकर जिम्मेदारी सौंपी गई है।मनमोहन को ताडतला वार्ड में तो रखा ही गया है, इसके अलावा शहर के बड़े भौगोलिक क्षेत्रफल वाले ओलन्दगंज वार्ड में भी सदस्य नामित कर दिया गया है। इस पत्र को जारी करने से पहले नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी संतोष कुमार, स्वच्छ भारत मिशन कि जिला कोऑर्डिनेटर खुशबू यादव , सफाई निरीक्षक हरिश्चंद्र यादव और नगर पालिका परिषद के कार्यालय अधीक्षक अनिल यादव का हस्ताक्षर भी हुआ है।

Leave A Reply