झारखंड के देवघर में 20 घंटे से बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन, आसमान और जमीन के बीच फंसीं 48 जिंदगियां

राज्य सरकार के विशेष अनुरोध पर इंडियन एयर फोर्स (Indian Air Force) के हेलीकॉप्टर द्वारा फंसे यात्रियों के सकुशल वापसी कराई जाएगी.

झारखंड (Jharkhand) के देवघर (Deoghar) एक बड़ा हादसा हो गया है. जहां त्रिकुटी पहाड़ के रोपवे (Ropeway) में 48 लोग फंसे हुए हैं. जिला प्रशासन एवं NDRF की टीम फंसे पर्यटकों को सकुशल नीचे उतारने के लिए आपसी समन्वय के साथ राहत एवं बचाव कार्य में जुटी है. राज्य सरकार के विशेष अनुरोध पर इंडियन एयर फोर्स (Indian Air Force) के हेलीकॉप्टर द्वारा फंसे यात्रियों के सकुशल वापसी कराई जाएगी.

इंडियन एयर फोर्स के हेलीकॉप्टर के जल्द ही त्रिकुटी पर्वत पहुंचने की संभावना है. इसके साथ ही आइटीबीपी ,इंडियन आर्मी और NDRFकी टीम त्रिकूट पर्वत पहुंच चुकी है. सभी फंसे पर्यटकों को हेलीकॉप्टर के माध्यम से सकुशल ट्रॉली से नीचे उतारा जाएगा.

प्राप्त जानकारी के अनुसार अभी भी 48 यात्री विभिन्न ट्रॉली में फंसे हुए हैं. सभी यात्रियों के सकुशल वापसी के लिए कल से ही घटना की सूचना मिलने के तुरंत बाद से बचाव एवं राहत कार्य जारी है. घटना में अभी तक दो पर्यटकों की मृत्यु हो गई है एवं एक गंभीर रूप से घायल है जिसे बेहतर इलाज के लिए रेफर किया गया है.

बता दें कि देवघर जिले के मोहनपुर प्रखंड अंतर्गत त्रिकुट पहाड़ पर रोपवे में अचानक खराबी आने के कारण कई पर्यटक ट्रॉली में ही फंस गए हैं. NDRF की टीम जिला प्रशासन के साथ समन्वय स्थापित करते हुए इन्हें सकुशल नीचे उतारने के लिए राहत एवं बचाव कार्य में जुड़े हुए हैं. रोपवे में फंसे पर्यटकों से लगातार धैर्य बनाए रखने की अपील की जा रही है.

Comments are closed.