जोन-5 एवं जोन-7 के गांवों में सीवर व्यवस्था होगी दुरुस्त, दो महीने में शुरू होगा काम

अभिषेक ब्याहुत

नोएडा। शहर के सेक्टर और गांवों की सीवर व्यवस्था को दुरुस्त रखने और गांवों के हर घर के कनेक्शन को मुख्य लाइन से जोड़ा जाएगा। जोन-5 एवं जोन-7 के गांवों में ये काम कराए जाएंगे। इन कामों पर प्राधिकरण तीन करोड़ रुपये खर्च करेगा।
एनजीटी ने ग्रेटर नोएडा की सीवर व्यवस्था को सुधारने के लिए कहा था। तब से ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण सीवर के कामों को प्राथमिकता के आधार पर करा रहा है। प्राधिकरण शहर के सेक्टर और गांवों की सीवर व्यवस्था को दुरुस्त रखने और घरों का सीवर कनेक्शन मुख्य लाइन से जोडऩे के लिए काम शुरू करेगा। प्राधिकरण ने जोन-5 और जोन-7 में यह काम कराएगा। इन कामों पर करीब तीन करोड़ रुपए खर्च होंगे। चयनित एजेंसी को अनुरक्षण कार्य तीन माह तक करना होगा। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने इन कामों के टेंडर निकाल दिए हैं। टेंडर प्रक्रिया पूरी करते हुए दो महीने में काम शुरू कराने की योजना है। प्राधिकरण के वरिष्ठ प्रबंधक चेतराम ने बताया कि सीवर व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए लगातार काम चलता रहता है। जो भी शिकायत आती हैं उन्हें प्राथमिकता के आधार पर निपटाते हैं।
सेक्टर की सुरक्षा व्यवस्था के लिए लगेंगे हाइट बैरियर
सेक्टर-2 के ब्लॉक सी, डी, ई एवं एफ में प्रवेश द्वार एवं हाइट बैरियर का निर्माण किया जाएगा। सुरक्षा को देखते हुए यह काम कराया जा रहा है। इस काम में करीब 34 लख रुपए खर्च किए जाएंगे। सेक्टर सिग्मा-3 और 4 का रखरखाव बेहतर किया जाएगा। इसके लिए तीन वर्ष का अनुरक्षण कार्य करने के लिए एजेंसी की तलाश की जा रही है। तीन साल में तीन करोड़ रुपए से अधिक खर्च किया जाएगा ताकि सेक्टर की व्यवस्थाएं दुरुस्त रहे।

बारातघर की सूरत बदलेगी
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में ग्राम ब्रह्मपुर गजरौला उर्फ नवादा में बारात घर की मरम्मत कराएगा। 15 लाख रुपए में बारात घर को नया लुक दिया जाएगा। यह काम 6 महीने में पूरा कर लिया जाएगा। ग्राम घंघोला एवं कुलीपुरा में इंटरलॉकिंग टाइल्स लगवाई जाएगी। इसके लिए ग्रामीण काफी दिनों से मांग कर रहे थे। इस काम में करीब सवा करोड़ रुपए खर्च होंगे। नौ महीने में इस काम को पूरा कर लिया जाएगा।

जलपुरा में गोशाला पर खर्च होंगे सात करोड़

ग्राम डाढ़ा, बिरौंडा, क्यामपुर एवं खानपुर में चार तालाबों का सुंदरीकरण किया जाएगा। इस काम में करीब 70 लाख रुपए खर्च होंगे। दो माह में तालाबों की सूरत बदली जाएगी। ग्राम जलपुरा में गोशाला का निर्माण कार्य होगा। इसके निर्माण में करीब सात करोड़ रुपए खर्च होंगे। एक साल में इस काम को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। गोशाला बनने से गोवंश को रखा जा सकेगा।

Comments are closed.