कालीचरण पर दर्ज हुआ राजद्रोह का केस, छत्तीसगढ़ में गरमायी सियासत

बीजेपी और कांग्रेस (BJP-Congress) में इस मसले को लेकर सियासी घमासान शुरू हो गया है

महात्मा गांधी पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में गिरफ्तार कालीचरण महाराज (Kalicharan Maharaj) के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है. राज्य सरकार ने कालीचरण की गिरफ्तारी के बाद इसकी जानकारी साझा की है. कालीचरण की मुश्किलें इसके बाद अब और बढ़ गई हैं. वहीं बीजेपी और कांग्रेस (BJP-Congress) में इस मसले को लेकर सियासी घमासान शुरू हो गया है. बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने अपने ट्वीटर हैंडल पर #ReleaseKalicharanMaharaj का इस्तेमाल करते हुये कालीचरण को आजाद करने की मांग की है.

कालीचरण के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज करने की पुष्टी करते हुये एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि कालीचरण के खिलाफ पूर्व में सीआरपीसी की धाराओं के तहत विधि सम्मत कार्रवाई की गई थी. भादवि की धारा 294, 505(2) का अपराध कालीचरण के खिलाफ दर्ज किया गया था. मामले की जांच के बाद साक्ष्यों के आधार पर भादवि की 153 A (1)(A), 153 B (1)(A), 295 A ,505(1)(B),124A की धारा बढ़ाई गई है.

राज्य सरकार ने कालीचरण की गिरफ्तारी को लेकर उपजे विवाद के बाद इसकी जानकारी साझा करते हुये बताया कि  रावनभाठा के धर्म संसद में 26 दिसंबर को दिए गये विवादित व्याख्यान पर कालीचरण के खिलाफ थाना टिकरापारा में धारा 294, 505(2) भादवि का अपराध दर्ज किया गया था. विवेचना के दौरान साक्ष्यों के आधार पर धारा 153 A (1)(A), 153 B (1)(A), 295 A,505(1)(B), 124A भादवि का भी समावेश किया गया है.

Comments are closed.