क्रुणाल पांड्या और दीपक हुड्डा पर बोले गौतम गंभीर- अच्छे प्रदर्शन के लिए जरूरी नहीं कि आप दोस्त हों

गंभीर ने कप्तान के तौर पर राहुल से उम्मीदों के बारे में पूछे जाने पर कहा, टीम का ध्वजवाहक कप्तान ही होता है

मंगलवार को लखनऊ सुपर जायंट्स के मेंटर गौतम गंभीर ने कहा है कि टीम को ऐसे केएल राहुल की जरूरत होगी, जो आईपीएल के आगामी सीजन में कप्तानी के साथ बल्लेबाजी पर अधिक ध्यान देते हुए टीम का नेतृत्व करे. कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए दो खिताबों के साथ आईपीएल के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में से एक गंभीर ने अपने इंटरव्यू में राहुल के नेतृत्व, टीम संरचना और दीपक हुड्डा और कुणाल पांड्या के बीच खराब संबंधों को संभालने सहित कई विषयों पर बात की. 

गंभीर ने कप्तान के तौर पर राहुल से उम्मीदों के बारे में पूछे जाने पर कहा, टीम का ध्वजवाहक कप्तान ही होता है और इसलिए मैदान के अंदर और बाहर राहुल ही लखनऊ सुपरजाइंट्स का नेतृत्व करेंगे. मेरे लिए केएल राहुल का बेहतर बल्लेबाज होना जरूरी है, जो टीम की कमान संभाले ना की ऐसा कप्तान जो बल्लेबाजी करे. मुझे उम्मीद है कि मैं आपको अपनी बातों के अंतर को समझाने में सफल रहा हूं.

वहीं लखनऊ सुपरजाइंट्स के दो हरफनमौला खिलाड़ी हुड्डा और कृणाल पहले बड़ौदा के लिये घरेलू क्रिकेट साथ खेलते थे, लेकिन हुड्डा ने क्रुणाल पर धमकाने का आरोप लगाकर टीम छोड़ दी थी. जिसके बाद दोनों अब लखनऊ टीम में साथ है और गंभीर ने कहा कि इससे कोई परेशानी नहीं आयेगी. उन्होंने कहा, मैदान पर अच्छे प्रदर्शन के लिये घनिष्ठ मित्र होना जरूरी नहीं है. वे पेशेवर हैं और उन्हें अपना काम पता है. एक टीम में खेलने का मतलब यह नहीं कि रोज साथ में डिनर करें. मैं भी जब खेलता था तो टीम में सभी मेरे दोस्त नहीं थे, लेकिन इससे मेरे प्रदर्शन पर फर्क नहीं पड़ा.

Comments are closed.