लॉक डाउन का दिखा असर कोरोना होगा बेअसर

-आगरा के बाजारों में छाई वीरानी, शहर की सड़कों पर पसरा सन्नाटा

आगरा, (आकाश जैन)। कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर शनिवार देर शाम से उत्तर प्रदेश में लागू पूर्ण लॉक डाउन का असर रविवार की सुबह से ताजनगरी आगरा के बाजारों में देखने को मिला। जिन बाजारों में हरवक्त लोगो की भीड़ दिखाई देती थी। वही, रविवार को बाजारों में वीरानी छाई हुई थी।

इस दौरान शहर के अलग अलग इलाके में रहने वाले बच्चों ने लॉक डाउन का भरपूर लाभ उठाया। उन्होंने लॉक डाउन के कारण खाली पड़ी सड़कों पर क्रिकेट खेल कर वक़्त बिताया। हालांकि, परिजनों के समझाने पर बच्चे वापस घर लौट गए। शहर में केवल आकस्मिक सेवाएं ही चालू रही।

आगरा शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमित मरीजों और कोरोना की चेन काे तोड़ने के लिए उत्तरप्रदेश सरकार ने साप्ताहिक लॉक डाउन लागू किया है जिसका असरदार असर देखने को मिला। आगरा वासियों ने लॉक डाउन का पालन किया, जिसके चलते सुबह से लेकर रात तक सड़कों और गली-मोहल्लों में सन्नाटा पसरा रहा। वहीं, सड़कों पर केवल आपातकालीन सेवा से जुड़े और ई-पास धारक व्यक्ति ही दिखे, जिनसे भी पुलिस ने रोककर पूछताछ की। आगरा शहर और देहातो के प्रमुख बाजारों भी सन्नाटा पसरा रहा।

इस दौरान लोगों की भीड़ से गुलजार रहने वाले आगरा के प्रमुख चौराहे व बाजारों में सुबह सात बजे से ही सन्नाटा पसरा रहा। इलाके के रहने वाले चंद लोग ही जरूरी काम से बाजार की प्रमुख सड़कों पर दिखें। वहीं, पुलिस कर्मी भी चोरहा पर मुस्तेद रहे जो बेवजह घूमने वाले लोगों से पूछताछ करते रहे। वहीं, सदर बाजार,बिजलीघर,संजय प्लेस, बेलनगंज,घटिया,सुभाष बाजार,रावतपाड़ा, कमलानगर रामबाग आदि प्रमुख सभी बाजारों में यही हाल रहा।

लॉक डाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए प्रशासनिक अधिकारी पूरी तरह से मुस्तैद रहे। तो वहीं,जरूरतमंद लोगों की देखरेख के लिए भी प्रशासन की टीम भी दौड़ती रही जिन्होंने लोगों की मदद भी की। वहीं शाम होते ही शहर के अन्य इलाके में शाम के वक्त सब्जी वाले सब्जी बेचते हुए दिखाई दिए।

आगरा की धड़कन एम जी रोड पर भी पसरा सन्नाटा

पिछले लॉकडाउन के बाद से अपनी रंगत पर वापस लौटा आगरा की धड़कन कहे जाने वाला एम जी रोड़ व संजय प्लेस रविवार को सूना पड़ा रहा।संजय प्लेस व एमजी रोड़ पर पुलिस का पहरा रहा। हालांकि आपातकालीन सेवा से जुड़े लोग इस इलाके से होकर गुजरते रहे। वहीं जगह-जगह पुलिस ने बैरिकेडिंग कर लोगों से पूछताछ की।

बिना मास्क वालों का चालान

वहीं बिना मास्क के सड़कों पर घूमने वाले लोगों का लॉक डाउन का उल्लंघन करने की धाराओं में चालान भी किया गया।

घर में हुई पूजा और नमाज

लोकडाउन के कारण शनिवार की रात से ही लोगों ने नवरात्रि की पूजा अर्चना अपने घरों में रहकर ही की। वहीं, अब तक लोग प्रमुख मंदिर बंद होने के चलते अपनी कॉलोनियों के आसपास के मंदिरों में जाकर ही पूजा करते थे लेकिन रविवार को लोगों ने घरों में ही पूजा की। साथ ही रमजान के दौरान मस्जिदों में जाकर नमाज पढ़ने वाले रोजेदारों ने भी घरों में रहकर ही पांचों वक्त की नमाज पढ़ी।

Leave A Reply