महिलाओं से गहने ठगने वाले गिरोह के आठ लोग हुए गिरफ्तार

आरोपी वृद्ध और अकेली महिलाओं को निशाना बनाते थे।

नोएडा: थाना सेक्टर 58 पुलिस ने शुक्रवार को महिलाओं से गहने ठगने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में दो सुनार हैं जो गहने खरीदते हैं। पकड़े गए आरोपियों का गिरोह दिल्ली-एनसीआर में लगभग छह वर्ष से सक्रिय है। आरोपियों ने कई घटनाओं को अंजाम दिया है। गिरोह द्वारा की जाने वाली घटनाओं को टप्पेबाजी के नाम से जाना जाता है। आरोपी वृद्ध और अकेली महिलाओं को निशाना बनाते थे।
नोएडा जोन के एडसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि शुक्रवार को पुलिस ने महिलाओं से धोखाधड़ी कर गहने ठगने वाले गिरोह का खुलासा किया है। पुलिस ने गिरोह में शामिल न्यू पंचवटी गाजियाबाद निवासी सुनार सचिन वर्मा, वसुंधरा गाजियाबाद निवासी सुनार प्रज्ज्वल वर्मा, भलस्वा दिल्ली निवासी अब्बास, हामिद, इंदिरापुरम निवासी मोहम्मद साहिब, सीमापुरी दिल्ली निवासी मोहम्मद शाहिद, मोहम्मद नाजुर खान, वसुंधरा गाजियाबाद निवासी अफरोज को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से सोने के आठ टॉप्स, एक लॉकेट, चार कंगन, आठ कुंडल, तीन चांदी के बिच्छुए, चार अंगूठी, आठ पाजेब, छह मोबाइल, 13,198 रुपए और दो कार बरामद की हैं। एडीसीपी ने बताया कि पकड़े गए आरोपी हामिद, अफरोज, साहिब, नाजुर खान, अब्बास और मोहम्मद शाहिद मिलकर दिल्ली-एनसीआर में सुबह के समय ड्यूटी पर जाने वाली या सैर कर रही महिलाओं के साथ धोखाधड़ी करते थे। वे महिलाओं को तांत्रिक विद्या के माध्यम से गहने दोगुना करने का लालच देते थे और उनके गहने उतरवा लेते थे। इसके बाद महिलाओं को 20 कदम आंखें बंद कर चलने के लिए कहकर गहने लेकर भाग जाते थे। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि चोरी किए गहनों को गाजियाबाद के सुनार सचिन वर्मा और प्रज्ज्वल वर्मा को आधे-पौने दाम पर बेच देते थे। आरोपी हामिद अली दिल्ली के सरिता विहार थाने से टप्पेबाजी की घटनाओं में वर्ष 2016 में जेल जा चुका है।

Comments are closed.