महिलाओं एवं बालिकाओं को सशक्त बनाने से देश होगा सशक्त : राज्यपाल

- 100 आंगनबाड़ी केंद्रों को साधन संपन्न बनाने के लिए ब्रहमा देवी बालिका इंटर कॉलेज में वितरित की गईं प्री स्कूल किट

हापुड़, (सौरभ शर्मा)। स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले ब्रह्मा देवी बालिका विद्यालय हापुड़ का देश में एक महत्वपूर्ण स्थान है। यह विद्यालय भावी पीढ़ियों को अनवरत प्रेरणा देता रहेगा। इस विद्यालय में आज से शिशु वाटिका का आरंभ किया गया है जिसका लाभ छोटे बच्चों को मिल सकेगा। यह बातें ब्रह्मा देवी सरस्वती शिशु मंदिर इंटर कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम को वर्चुअल रूप से संबोधित करते हुये राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने गुरुवार को कहीं।

इस कॉलेज में प्रवासी छात्राओं के लिए छात्रावास भी है। छात्राओं के लिए खेल परिसर व 50 गाय वाली गौशाला भी मौजूद है। यह कॉलेज शिक्षा के साथ-साथ अन्य क्षेत्र में भी उन्नति कर रहा है। राज्यपाल पटेल ने कहा कि नारी केवल मां, पत्नी के रूप में सम्मानित होने के लिए ही नहीं है बल्कि वह अपनी प्रतिभा के लिए भी महत्वपूर्ण है। आजादी के बाद नारी पुरुष वर्चस्व वाले सभी क्षेत्रों में हिस्सा ले रही है। आज की महिला राष्ट्रपति से लेकर विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री व मुख्यमंत्री के पद पर आसीन हो रही है। महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम भी चलाए जा रहे हैं। किसी भी देश की प्रगति महिलाओं के आर्थिक व सामाजिक विकास पर निर्भर करती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी मानना है कि सशक्त महिलाएं ही सशक्त समाज का निर्माण कर सकती है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भी महिला सशक्तिकरण हेतु निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। आज की बालिका ही कल की महिला है। परंतु समाज में यह देखने में आ रहा है कि कुछ लोग कन्या भ्रूण हत्या करने में भी पीछे नहीं है। एक स्वस्थ माँ ही स्वस्थ बेटी को जन्म दे सकती है।

उन्होंने बालिकाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले समय में वे दहेज लोभी लड़कों से विवाह बिल्कुल ना करें।हमें समाज में बदलाव लाना होगा जिससे समाज में महिलाओं को देखने का नजरिया भी बदलेगा। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को संबोधित करते हुए कहा कि आंगनबाड़ी केंद्रों में मिनी टॉयलेट होने चाहिए तथा वास वेशन भी नीचे लगाने चाहिए जिससे बच्चे स्वयं जाकर अपना कार्य कर सकें। बच्चों को उनका कार्य खुद करने की प्रेरणा देनी चाहिए।

राज्यपाल ने मूल्यांकन केंद्र चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ का उद्घाटन करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय में परीक्षाएं समय पर कराई जाएं समय पर परीक्षा परिणाम घोषित हो समय रहते दाखिले दिए जाएं और समय अनुसार क्लासे चाहे ऑफलाइन या ऑनलाइन कराएं जितने भी शिक्षक व विद्यार्थी है। उनमें आपसी समन्वय होना चाहिए। उन्होंने बालिकाओं को संबोधित करते हुए कहा कि बालिकाओं का छोटी उम्र में विवाह नहीं होना चाहिए यह शिक्षक गण भी ध्यान रखें। राज्यपाल की तरफ से 10 कंप्यूटर व ई लाइब्रेरी ब्रह्मा देवी बालिका छात्रावास की छात्राओं को प्रदान की।

उन्होंने कहा कि इनका उपयोग कर समस्त बालिकाएं सक्षम , आत्मनिर्भर व सुदृढ़ बने। इस अवसर पर 5 गर्भवती महिलाओं की गोद भराई और 5 बच्चों का अन्नप्राशन कार्यक्रम भी कराया गया। साथ ही इस अवसर पर ब्रह्मा देवी बालिका विद्यालय की छात्राओं ने अलग-अलग प्रोजेक्ट के स्टॉल लगाकर कार्यक्रम में उपस्थित आम जनमानस को शिक्षा के प्रति जागरूक भी किया। कार्यक्रम के अंत में राष्ट्रगान कर कार्यक्रम का समापन किया गया और प्रति कुलपति प्रोफेसर वाई विमला ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस अवसर पर विधायक हापुड़ विजयपाल आढ़ती , नगर पालिका अध्यक्ष प्रफुल्ल सारस्वत, जिलाधिकारी अनुज सिंह, पुलिस अधीक्षक दीपक भूकर, सीडीओ उदय सिंह, जिला विकास अधिकारी संजय कुमार, कुलसचिव धीरेंद्र कुमार वर्मा, सहित विद्यालय के सभी शिक्षक, अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

Comments are closed.