महिलाएं ठान लें तो सफलता कदम चूमेगी : प्रो निर्मला एस.मौर्य कुलपति

महिलाओं को अंगवस्त्रम व प्रशस्ति पत्र देकर किया सम्मानित

प्रणय तिवारी

जौनपुर: वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मंगलवार को फार्मेसी संस्थान में 60 महिलाओं को सम्मानित किया गया। इन महिलाओं को जिला प्रशासन की ओर से इत्र बनाने का प्रशिक्षण लेने के लिए कन्नौज भेजा गया था। विश्वविद्यालय की कुलपति ने सभी महिलाओं को अंगवस्त्रम और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित कर उनका उत्साहवर्धन किया।
इस अवसर पर कुलपति प्रोफेसर निर्मला एस.मौर्य ने कहा कि महिलाएं अगर ठान लें तो असंभव शब्द उनके लिए नहीं है। वह कुछ भी कर सकतीं हैं।

आज आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, खेल हर क्षेत्र महिलाओं की उपलब्धियों से भरा हुआ है। ये दिन इन्हीं उपलब्धियों को सलाम करने का है। इसके अलावा इन दिन का मकसद महिलाओं के अधिकारों को लेकर जागरूकता फैलाना भी है ताकि उन्हें उनका हक मिल सके और वह पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलाकर चल सकें।

मुख्य अतिथि पंजाब नेशनल बैंक के मुख्य प्रबंधक राम बहादुर सरोज ने कहा कि महिलाएं हर चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हैं। यूं हीं आगे बढ़ते रहें और मंजिल तक पहुंचे।भारत जैसे पुरुष प्रधान देश में भी महिलाओं ने अपने कौशल कार्य से अपनी अलग पहचान बनाई है।

महिला अध्ययन केंद्र प्रभारी डॉ. जाह्नवी श्रीवास्तव ने स्वागत भाषण करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय स्तर पर महिला अध्ययन केंद्र और मिशन शक्ति ने महिलाओं के जागरूकता के लिए कई कदम उठाए हैं । इसी के चलते महिलाएं आत्मनिर्भर बन रही हैं और जिले के विकास में अपनी भागीदारी निभा रही हैं।
संचालन डॉ सोनम झा, आभार डॉ वनिता सिंह ने व्यक्त किया।
इस अवसर पर डॉ पूजा सक्सेना, डॉ रेखा पाल, डॉ अन्नु त्यागी, डॉ झांसी मिश्रा, डॉ प्रियंका, डॉ जया शुक्ला, डॉ करूणा निराला, डॉ विनय वर्मा, डॉ मनोज कुमार पांडेय, डॉ. धीरेंद्र चौधरी इत्यादि मौजूद रहे ।

Comments are closed.