मायावती का राहुल गांधी के बयान पर पलटवार, कहा- कांग्रेस की हालत खिसियानी बिल्ली जैसी

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बसपा के बारे में बोलने से पहले राहुल गांधी को 100 बार सोचना चाहिए

बसपा सुप्रीमो मायावती ने रविवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए इस बात से इनकार किया कि उन्हें कांग्रेस ने मुख्यमंत्री बनाने का प्रस्ताव दिया था. यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री ने इसके साथ ही देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी पर आरोप लगाया कि दलितों के हित में वह कभी खड़ी नहीं हुई.

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बसपा के बारे में बोलने से पहले राहुल गांधी को 100 बार सोचना चाहिए. यह बयान उनकी जातिवादी सोच का प्रतीक है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि दूसरी पार्टियों के बजाय कांग्रेस को अपनी चिंता करनी चाहिए. कांग्रेस की हालत यूपी चुनाव परिणाम के बाद खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे जैसी हो गई है.

मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘मुझे ये मालूम हुआ है कि राहुल गांधी ने कल पार्टी और पार्टी की मुखिया पर जो टिप्पणी की है, इस बयान से उनकी जातिवादी मानसिकता झलकती है. कांग्रेस ने कभी दलितों के आर्थिक और सामाजिक स्थितियों को बेहतर करने के लिए कोई कदम नहीं उठाए. दलितों को आरक्षण का भी पूरा लाभ नहीं दिया गया. कांग्रेस पार्टी खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे की तरह व्यवहार कर रही है.’

बसपा सुप्रीमो ने कहा, ‘ये लोग अपने बिखरे हुए घर को संभाल नहीं पा रहे हैं. कांशीराम जी को राजीव गांधी भी सीआईए का एजेंट बता चुके हैं. वो कहते हैं कि बसपा मुखिया सीबीआई, ED से डरती है. राहुल गांधी के चुनाव में मुझे सीएम बनाने को लेकर दिए गए बयान में रत्ती भर भी सच्चाई नहीं है. बसपा पर कोई भी टिप्पणी करने से पहले राहुल गांधी को 100 बार सोचना चाहिए. बीजेपी के खिलाफ लड़ाई लड़ने में कांग्रेस का रवैया ढुलमुल रहा है. बीजेपी एंड कंपनी के लोग साम दाम दंड भेद से विपक्ष विहीन सरकार चलना चाहते हैं.’

Comments are closed.