एमसीडी चुनाव के लिए तारीखों की घोषणा टली, अब अगले हफ्ते होगा ऐलान

- दिल्ली के तीनों निगमों के एकीकरण को लेकर केंद्र सरकार ने राज्य चुनाव आयुक्त को चुनावों की घोषणा करने से रोका

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में तीन नगर निगमों के चुनाव की तारीखों की घोषणा आज ऐन मौके पर तब टल गई जब गृह मंत्रालय से भेजी गई एक सूचना राज्य निर्वाचन आयोग की प्रेस कांफ्रेंस से महज आधा घंटे पहले राज्य चुनाव आयुक्त एसके श्रीवास्तव के पास पहुंची। अब निगम चुनाव की तारीखों की घोषणा अगले सप्ताह होने की संभावना है।

दरअसल, दिल्ली के राज्य निर्वाचन आयुक्त (एसईसी) एस के श्रीवास्तव ने बुधवार को आयोजित एक प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि मुझे शाम 4.30 बजे केंद्र सरकार से कुछ संदेश मिला है, इसलिए मैं अभी तारीखों की घोषणा करने में समर्थ नहीं हूं। उन्होंने कहा कि हम तारीखों की घोषणा करने वाले थे, लेकिन अब उन्हें घोषित करने में 5-7 दिन और लगेंगे। बता दें कि एसईसी बुधवार को शाम पांच बजे प्रेसवार्ता के दौरान चुनाव की तारीखों की घोषणा करने वाले थे।

श्रीवास्तव ने कहा कि केंद्र सरकार शायद ‘एमसीडी का पुनर्गठन करना चाहती है। हो सकता है कि वे तीनों निगमों को फिर से मिला दें, इसलिए वह इस मुद्दे पर विचार कर रहे हैं। मगर, हम केंद्र सरकार के इस निर्देश के अनुपालन को लेकर असमंजस में हैं। लिहाजा, इस संबंध में कानूनी सलाह ली जा रही है। उसके बाद ही निर्वाचन आयोग निगम चुनाव को लेकर कोई आधिकारिक घोषणा करेगा। गौरतलब है कि दिल्ली नगर निगम अधिनियम 1957 (संशोधित 2011) के मुताबिक उत्तरी और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के 104-104 वार्ड और पूर्वी दिल्ली नगर निगम के 64 वार्ड में 18 मई से पहले चुनाव कराया जाना अनिवार्य है

निगम चुनाव टलने पर किसने क्या कहा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि भाजपा भाग गई। एमसीडी चुनाव टाल दिया और हार मान ली। दिल्ली वाले खूब ग़ुस्सा हैं। कह रहे हैं कि इनकी हिम्मत कि चुनाव ना करायें? अब इनकी जमानत जब्त करायेंगे। सीएम ने कहा कि हमारे सर्वे में अभी 272 में से 250 सीट आ रहीं थीं। अब 260 से ज्यादा आएँगी। पर चुनाव आयोग को भाजपा के दबाव में नहीं आना चाहिए था।

वहीं, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि एमसीडी में हार की डर से भाजपा ने चुनाव आयोग के जरिये चुनाव टाल दिए। एमसीडी में 15 साल के भ्रष्टाचार से जनता दुखी है और इसी से डरकर भाजपा चुनाव से भाग रही है। दिल्ली के लोग अब एमसीडी में भी केजरीवाल के लिए अपना मन बना चुका हैं। सिसोदिया ने भाजपा को घेरते हुए कहा कि चुनाव आयोग ने केंद्र की भाजपा सरकार के आगे घुटने टेक दिए हैं। अगर कल भाजपा राज्य या केंद्र में चुनाव हार रही होगी तो मोदी सरकार उनके भी चुनाव रदद करवा देगी।

केजरीवाल सरकार की भ्रष्ट शराब नीति से जनता में है आप के प्रति रोष : आदेश गुप्ता

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा है कि भाजपा कभी चुनाव से नहीं बचती, हमारा संगठन हमेशा चुनाव के लिए तैयार रहता है। उन्होंने कहा है कि भाजपा कभी चुनाव से नहीं डरती, डरे हुए तो खुद अरविंद केजरीवाल हैं क्योंकि उनकी सरकार की भ्रष्ट शराब नीति से जनता में उनके प्रति रोष है। उनके ब्यान केवल लोक दिखावा हैं असल में वह चुनाव टलने से खुश हैं।

अध्यक्ष गुप्ता ने बताया कि दिल्ली में दस वर्ष पूर्व नगर निगम का विभाजन तीन निगमों में किया था पर दस वर्ष बाद राजनीतिक दलों एवं जनता सभी ने महसूस किया कि इससे प्रशासकीय सुविधा तो हुई ही नहीं आर्थिक समस्याएं भी बढ़ गईं।
गुप्ता ने कहा कि दिल्ली की जनता भली भांति जानती है कि दिल्ली के तीनों नगर निगमों की समस्याओं को बढ़ाने में केजरीवाल सरकार के राजनीतिक द्वेष की बड़ी भूमिका है।

गत 7 साल में लगातार निगम फंड रोक कर अरविंद केजरीवाल ने निगमों को आर्थिक रूप से पंगु बनाये और व्यवस्थाओं को भी कमजोर किया है। अतः जनता की सुविधा एवं नगर निगम की व्यवस्थाओं को सुधारने के उद्देश्य से केन्द्र सरकार ने हस्तक्षेप करने का निर्णय लिया और यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बजाये सुधार में सहयोग देने के अपने चिरपरिचित अराजक अन्दाज़ में किसी भी वैधानिक व्यवस्था को ना मानते हुए ओछी राजनीति कर रहे हैं।

दिल्ली नगर निगम के चुनाव टालना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण: चौ. अनिल कुमार

अंतिम समय में दिल्ली के निगम चुनावों की तारीखों की घोषणा टालने पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि दिल्ली नगर निगम के चुनाव टालना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। सत्ता का दुरुपयोग करके दिल्ली नगर निगम के चुनाव जो 22 अप्रैल 2022 तक होने थे उसको टाल दिया गया है। यह दर्शाता है कि केंद्र में शासित भाजपा और दिल्ली में आम आदमी पार्टी अपनी हार से घबरा गई है। चौ. अनिल ने कहा कि अगर ऐसा नहीं होता तो समय पर चुनाव कराए जाते जिसकी घोषणा बुधवार शाम को होनी थी। उन्होंने कहा कि मैं चुनाव आयोग से अपील करता हूं कि दिल्ली में निगम चुनाव समय पर ही कराया जाए।

Comments are closed.