मेरठ में फर्जी दस्तावेज बनाने वाले गिरोह का पुलिस ने किया पर्दाफाश

-मामले के आरोपी से न्यायिक और पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों के नाम की नकली मोहर बरामद

मेरठ। फर्जी दस्तावेज बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करने में यूपी पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। इसके तहत सरकारी अधिकारियों की आधिकारिक मोहर लगाकर फर्जी दस्तावेज बनाने के काले धंधे का पर्दाफाश किया गया है।

दरअसल, मामला मेरठ के सिविल लाइन थाने क्षेत्र के कचहरी का है पुलिस ने कचहरी में फर्जी दस्तावेज बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया है, जबकि तीन आरोपी मौके से फरार हो गए। वहीं, पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपी के पास से नकली मोहर भी पुलिस ने बरामद की है। पुलिस का दावा है कि न्यायिक और पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों के नाम की नकली मोहर का प्रयोग किया जा रहा है। जमानती से सीज वाहन छुड़वाने के लिए यह ग्रुप कचहरी में काम कर रहा है।

सोमवार को चेकिंग के दौरान सूचना मिली कि चार युवक फर्जी दस्तावेज बना रहे है। इस मामले में पुलिस ने एक संदिग्ध के हाथ में प्लास्टिक का डिब्बा देखकर पूछताछ की तो उसने बताया कि डिब्बे में खाना है। पुलिस ने तलाशी ली तो उसमें से काफी संख्या में अलग -अलग नाम की मोहर दिखाई दी।

पुलिस उस युवक को थाने ले आई और जब मोहरों की जांच की तो उसमें मेरठ के अधिकांश थानों के साथ हापुड़ और गाजियाबाद के थानों की मोहर मिली। वही बताया जा रहा है पकड़े गए आरोपी का नाम राहुल है। पुलिस ने बताया कि तीनों फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस ने मामले की एफआईआर दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू की है।

Comments are closed.