Missile Man Dr. APJ Abdul Kalam 90th Birth Anniversary

PM Modi, President Ramanath Kovind and Naveen Patnaik pays Tribute to legendary scientist APJ Abdul Kalam

On the occasion of missile man Dr. APJ  Abdul Kalam 90th bithday

Dignified personality  like President Ram Nath Kovind, Prime Minister Narendra Modi, Odisha Chief Minister Naveen Patnaik, and many others paid their tributes to the one and only personality Dr APJ Abdul Kalam on the occasion of his 90th birth anniversary on Friday.

आज 15 अक्टूबर वही दिन है जब भारत में एक महान व्यक्तित्व ने जन्म लिया। इनकी शख्सियत कुछ ऐसी है जिसे हम शब्दों में बयां नहीं कर सकते। तमिलनाडु के शहर रामेश्वरम मैं 15 अक्टूबर 1931 को विज्ञान ने जन्म लिया। जी दोस्तों मैं बात कर रही हूं हम सबके प्रिय डॉक्टर अब्दुल कलाम की। मिसाइल मैन के नाम से मशहूर एयरोस्पेस साइंटिस्ट डॉक्टर अब्दुल कलाम का पूरा नाम अबुल पाकिज जैनुलआब्दीन था। किसी समय में न्यूज़पेपर भेज कर अपना गुजारा करने वाले इस बच्चे के बारे में किसने सजाया के लिए बड़ा होकर एक दिन देश को इतना गौरवशाली तोहफा देकर देश का मान सम्मान ऊंचा करेगा।

Dr. APJ Abdul Kalam Azad Was born on 15th October 1931 in tamilnadu, And died in Shilong at Indian institute of management on 27th July 2015. He died while he was delivering speech among students. He loves teaching and see at his last time he was teaching. He is most precious jem of India. He gave india a wing to fly long distance. When he discovered the way to launch missile, America offered him a good salary and citizenship to join NASA. But he was real nationalist therefore, he refused American proposal and decided to live in India and work for Indians.

अब्दुल कलाम जी वह शख्सियत है जिन्होंने मिसाइल के सफल परीक्षण के जरिए भारत को अपार शक्ति प्रदान की है। इन्हें बच्चे बेहद पसंद है और इन्हें पढ़ाना तो और भी ज्यादा पसंद था जिन्होंने अपने आखिरी वक्त 10 बच्चों को पढ़ाया है। 27 जुलाई 2015 में शिलांग के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट में लेक्चर देते वक्त अब्दुल कलाम जी को अचानक कार्डियक अरेस्ट आया और वह गिर पड़े थे। इसके बाद में मृत घोषित कर दिया गया था और इनके सबको इनके गांव रामेश्वरम पहुंचा दिया गया था जहां इनके परिवार वालों ने पूरी संस्कृति के साथ दफनाया था।

Fondly called ‘Missile Man of India’ as well as ‘People’s President’, Dr A.P.J Abdul Kalam or Abdul Pakir Jainulabdeen Abdul Kalam, the 11th President of India from 2002 to 2007, was born in Rameshwaram, Tamil Nadu on October 15, 1931.

 

Story behind Dr. APJ Abdul Kalam Azad becoming 11th  president of India

कया आप जानते है अब्दुल कलम जी कैसे बने 11th राष्ट्रपति

The story behind his presidency is very interesting, He never think to became a president but in the reign of Atal bihari Vajpayee, one day Dr. APJ Abdul Kalam Azad was teaching somewhere in institution. PM Atal bihari Vajpayee make him a call and said are free can we talk, Dr. Abdul Kalam Azad replied no sir I am not free I will call you back after finishing this class.

ये एक वक्त की बात है जब अब्दुल कलम जी किसी यूनिवर्सिटी मे बच्चों को पढ़ा रहे थे। ये वो वक्त था जब भारत को मिसाइल मैन मिल चूका था। उस समय के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का कॉल आया की कया आप फ्री है तो मुझे आपसे कुछ बात करनी है, बेहद अदब से अब्दुल कलाम ने जवाब दिया जी मै अभी बीजी हूँ फ्री होकर आपको कॉल करता हूँ।

कुछ समय बाद जब अब्दुल कलाम जी बच्चों को पढ़ाकर फ्री हुए तो उन्होंने फिर चार्टर बिहारी वाजपेई जी को कॉल किया तो कॉल पर बाजपेई जी ने उनसे कहा कि क्या प्रेसिडेंट का पोस्ट संभावना चाहेंगे इसमें जवाब देते हुए कलाम साहब ने कहा कि नहीं मैं तो साइंटिस्ट आदमी हूं मैं भला कैसे किसी से वोट मांग सकता हूं मुझसे नहीं होगा यह सब इसके बाद अटल बिहारी मैंने खूब समझाया और कहा आपको वोट मांगने की जरूरत नहीं बल्कि आपको सभी लोग अपने मन से वोट देना चाहते हैं। और हुआ भी वहीं जहां अब्दुल कलाम जी खड़े हुए प्रेसिडेंट के लिए तो सभी लोगों ने बिना किसी अरगुमेंट के अपना पूरा वोट अब्दुल कलाम जी को दे दिया और इस तरह उन्होंने 5 साल तक प्रेसिडेंट के रूप में हमारे देश की सेवा की।

 

PM Atal bihari Vajpayee said ok please,  APJ Abdul Kalam Azad finished his class then call him back Atal bihari Vajpayee from other side said sir will you be our next president please, Abdul Kalam said no sir I can’t beg for vote I am a teacher not politician. Atal bihari Vajpayee said you don’t need to ask any one for vote you just stand up as nominee, everyone wants you to be our president. And finally when Abdul Kalam nominated his name for President post each and every vote goes to him without any argument. Hence, a excellent brain sat on president post.

Comments are closed.