पुलवामा में वोट की खातिर सीआरपीएफ जवानों को मारा गया : राम गोपाल यादव

नई सरकार बनने पर होगी जांच

इटावा। समाजवादी पार्टी के प्रमुख राष्टÑीय महासचिव प्रो. राम गोपाल यादव ने केंद्र की मोदी सरकार को कठधरे में खड़ा करते हुए कहा कि पैरामिलिट्री फोर्स सरकार से बहुत दुखी है। पुलवामा में शहीद हुए जवानों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि वोट के लिए जवान मार दिए गए।

सैफई में होली के मौके पर आयोजित समारोह में प्रो. रामगोपाल यादव ने कहा कि मैनपुरी संसदीय सीट से नेताजी मुलायम सिंह यादव चुनाव लड़ रहे हैं, लेकिन उनकी जानकारी में आया है कि जहां जहां समाजवादी पार्टी के समर्थकों की तादाद ज्यादा है ,वहां वहां पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती की जा रही है। लेकिन, पैरा मिलिट्री के अफसर बहुत ही दुखी हैं। उन्होंने 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले का जिक्र करते हुए कहा कि जम्मू-श्रीनगर के बीच चेकिंग नहीं की थी। जवानों को बस में भेजा गया, ये साजिश थी। इस साजिश के बारे में अभी कुछ नहीं कहना चाहता हूं, लेकिन जब सरकार बदलेगी, इस मामले की जांच होगी और बड़े-बड़े लोग फंसेंगे।

उन्होंने कहा कि पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ जवानों का 70 से ज्यादा गाड़ियों का काफिल जम्मू से श्रीनगर जा रहा था। इसी दौरान विस्फोटक से भरी एक कार ने टक्कर मारी थी, जिसमें 40 जवान शहीद हुए थे। उन्होंने कहा कि देश की सरकार को दिल्ली से उतारने का काम यूपी करने जा रहा है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी ने एक साथ 5 करोड़ लोगों को बेराजगार कर दिया है। देश को बचाने के लिए सपा बसपा ने मेल किया है।

उन्होंने कहा कि भाजपा देश में तानाशाही लाने के काम करने की कोशिश कर रही है। पुराने वाकये का ज्रिक करते हुए कहा कि बाबरी मस्जिद गिरने के बाद सपा बसपा एक होकर सरकार बना ली थी, तब समाजवादी पार्टी का जनमत इतना नहीं था, लेकिन आज तो ताकत बहुत अधिक हो चुकी है। उन्होंने कहा कि देश में नेताजी की सबसे अधिक वोटों से जीत हो, यही चाहत है। नेताजी के नाम की घोषणा के बाद मैनपुरी में उनका पुतला जलाया गया, लेकिन किसी भी नेता ने निंदा भी नहीं की, इस बात का अफसोस है, लेकिन यह कहने मे कोई संकोच नहीं कि नेताजी के चुनाव के बाद वो लोग राजनीति करने के लिए लायक नहीं रहेंगे। 

उन्होंने कहा कि 20 हजार लोग भाजपा की आईटी सेल में काम करते हैं, जो सिर्फ देशभर में अफवाह फैलाने की तैयारी में हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि देश का पहला ऐसा चौकीदार है, जो बीएमडब्लू से चलता है। जो वादा किया वो कभी भी पूरा नहीं किया। नेताजी ने संसद में कहा था कि 15 लाख छोड़िये, हर किसी को 15-15 सौ रुपये दे देते तो अच्छा रहता।

रामयण में सोने के हिरन का जिक्र जरूर किया गया है। पता नहीं सोने का हिरन था या नहीं, लेकिन भाजना वाले किसी भी मारीच से कम नहीं हैं। उन्होेंने कहा कि नेताजी मैनपुरी मे सिर्फ नामांकन करने आएंगे। मैनपुरी वाले नेताजी का चुनाव लडेÞंगे। कोई भी नेताजी से गाड़ी नहीं मागेगा। पैसा भी नही मांगेगा। नेताजी के पास यह सब नहीं है। देश को बचाने के लिए भाजपा को बेदखल करने की बहुत जरूरत है।

Leave A Reply